बलिया में कूड़ा निस्तारण केंद्र पर ट्रैक्टर समेत चालक को सात घंटे ग्रामिणों ने बनाया बंधक

– नपं कर्मचारियों से भी हुआ बकझक, पहुंची पुलिस, देर शाम निकला चालक
– नगरपंचायत के कूड़ा निस्तारण केंद्र पर हुआ विवाद

बलिया: जनपद बलिया के बिल्थरारोड क्षेत्र के हल्दीरामपुर गांव में नगरपंचायत के संचालित कूड़ा निस्तारण केंद्र पर शनिवार को दर्जनों की संख्या में पहुंची महिलाओं और ग्रामिणों ने नपं के कूड़ा वाहन को रोक दिया और कूड़ा गिराकर वापस जा रहे चालक लाल बहादुर को ग्रामिणों ने वाहन समेत बंधक बना लिया। जिससे नगरपंचायत प्रशासन में खलबली मच गई। नगरपंचायत के दो कर्मचारी मनोज सफाई नायक और एक अन्य कर संग्रहक भी मौके पर मदद को पहुंचे। जिन्हें ग्रामिणों ने मौके से जबरन भगा दिया। ईओ ब्रजेश गुप्ता ने तत्काल इसकी जानकारी उभांव थाना पुलिस और उच्चाधिकारियों को दी। दोपहर बाद मौके पर पहुंचे पुलिस ने महिलाओं को समझाना चाहा तो उनके पीछे बवाल की मंशा से खड़े लोगों ने हंगामा करने की कोशिश की। जिन्हें बाद में पुलिस ने सख्त हिदायत देते हुए मौके से हट जाने की चेतावनी दी।

पुलिस प्रशासन के काफी मशक्कत व समझाने के बाद ग्रामिणों ने मौके से नगरपंचायत के ट्रैक्टर और चालक लाल बहादुर को छोड़ा। ग्रामीण लगातार बाउंड्री होने तक कूड़ा न गिराने का दबाव देते हुए आरोप लगा रहे थे कि नगरपंचायत का कूड़ा उनके खेतों तक उड़कर पहुंच रहा है। इधर ईओ ब्रजेश गुप्ता ने बताया कि हल्दीरामपुर में बने एमआरएफ सेंटर यानी कूड़ा निस्तारण केंद्र पर महीनों से नगर का कूड़ा गिराया जा रहा है। जिसका चाहरदीवारी भी बन रही है। लोगों का विरोध महज गंवई राजनीति का हिस्सा है। जिससे सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न हुआ। देर शाम नगरपंचायत ने मामले को लेकर गांव के चार पुरुष व तीन नामजद महिला संग दर्जनों ग्रामिणों के खिलाफ लिखित तहरीर उभांव थाना पुलिस को दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button