उत्तरप्रदेश / कोरोना : 25 दिन में 75% घटा संक्रमण, 24 अप्रैल को 24 घंटे में मिले थे संक्रमण के रिकॉर्ड 38055 मामले

17 मई को यह संख्या घटकर 9391 पर पहुंची, डेढ़ माह में पहली बार 10 हजार से नीचे आए नए केस, अधिकांश जिलों में हजार से सैकड़े में सिमटा संक्रमण, कुछ जिलों में यह संख्या दहाई तक आई

    • गिरीश पांडेय

    लखनऊ : कोरोना के मोर्चे पर देश के सर्वाधिक आबादी वाले सूबे उत्तरप्रदेश से अच्छी खबर है। 25 दिन में यहां 24 घंटे के दौरान मिलने वाले कोरोना संक्रमण के नए मामलों में 75% की कमी आई है। 24 अप्रैल को 24 घंटे में प्रदेश में नए संक्रमण के रिकॉर्ड 38055 मामले मिले थे। उस समय कुछ संस्थाओं ने आशंका जताई थी कि मई में पीक पर यह संख्या एक लाख तक जा सकती है। पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आक्रामक ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट नीति के जरिए न केवल सारी आशंकाएं निर्मूल साबित हुई बल्कि उत्तर प्रदेश में कोरोना बहुत हद तक नियंत्रण में है।

    कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में ‘ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट’ को सबसे प्रभावी हथियार बनाने के कुछ दिनों बाद से कोरोना के लिहाज से हर मोर्चे पर आने वाली खबरें राहत पहुंचाने वाली हैं। मंत्र के अनुसार योगी सरकार की कोशिशों के अच्छे परिणाम मिलने लगे हैं। इन कोशिशों का ही नतीजा है कि महज एक पखवारे में ही प्रदेश के कोरोना मरीजों की तादाद में 56 फीसदी तक कमी आ गई है। ढाई से तीन लाख टेस्ट हर दिन करने के बाद भी स्थिति यह है कि दैनिक केस की संख्या में लगाता कमी हो रही। प्रदेश के 75 जिलों में से 44 जिले ऐसे हैं जहां कुल कोरोना मरीजों की संख्या 2000 से कम रह गई है, जबकि 30 जिलों में 5000 से कम एक्टिव केस हैं। बीते माह 30 अप्रैल को प्रदेश में 03 लाख 10 हजार 783 कोरोना मरीज थे, यह समूचे कोविड काल में अब तक का पीक था। इसके सापेक्ष 17 मई को 1,49,032 लाख एक्टिव केस रहे। रिकवरी रेट सुधरकर 91.6 फीसदी तक हो गया।

    सीएम ने दिया टेस्ट बढ़ाने के निर्देश

    एक्टिव केस में गिरावट और बेहतर होते रिकवरी दर को संतोषजनक बताने के साथ मुख्यमंत्री कोरोना को लेकर पूरी तरह सतर्क हैं। इसी क्रम में संक्रमण में ठीक ठाक कमी के बावजूद मुख्यमंत्री ने टेस्टिंग क्षमता को और बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए लोगों के सहयोग से गांव-गांव टेस्टिंग का जो महा अभियान चल रहा है उसे युद्ध स्तर पर चलाएं। निगरानी समितियां घर-घर जाएं, स्क्रीनिंग करें, होम आइसोलेशन के मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराएं। लक्षणयुक्त लोगों के बारे में आरआरटी को सूचना देकर उनका एंटीजन टेस्ट कराए। डीएम और सीएमओ यह सुनिश्चित करें कि टेस्ट की यह प्रक्रिया गांव में ही हो। आरआरटी की संख्या में तीन से चार गुना बढ़ोतरी के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। कांटेक्ट ट्रेसिंग और बेहतर करने की जरूरत है।

    हर मरीज को जरूर मिले मेडिकल किट

    मुख्यमंत्री का निर्देश है की होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे लोगों को समय से मेडिकल किट जरूर दी जाए।मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री कार्यालय से इसकी समीक्षा की जाए। निगरानी समितियां जिन लोगों को मेडिकल किट दें उनका विवरण आईसीसीसी को उपलब्ध कराएं। आईसीसीसी इसका सत्यापन करे। जिला प्रशासन के जरिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी ये सूची उपलब्ध कराई जाए। सीएम हेल्पलाइन से भी इसका सत्यापन कराएं । मालूम हो कि यूपी में हर दिन औसतन सवा दो लाख कोविड टेस्ट किये जा रहे हैं। बीते 01 मई को नया रिकॉर्ड बनाते हुए प्रदेश में 02 लाख 97 हजार टेस्ट किये गए। इसके बाद भी घटता संक्रमण राहत देता है।

    01 से 18 मई तक दैनिक नए केस की स्थिति

    01 मई- 30317
    02 मई- 30,983
    03 मई- 29,192
    04 मई- 25858
    05 मई- 21,265
    06 मई – 26780
    07 मई -28076
    08 मई- 26847
    09 मई- 23333
    10 मई- 21331
    11 मई- 20463
    12 मई- 18125
    13 मई- 17775
    14 मई- 15747
    15 मई- 12500
    16 मई- 10682
    17- मई – 9391
    18 मई –  8727

    छठे दिन भी संक्रमण घटा

    24 घंटे के दौरान संक्रमितों की संख्या लगातार छठे दिन घटकर 17775 हो गई। स्वस्थ्य होने वाले रहे 19425 । मेरठ को छोड़ सभी जिलों में हजार के नीचे आया संक्रमण । मेरठ को छोड़ सभी जिलों में 24 घंटे के दौरान संक्रमित होने वालों की संख्या हजार से कम रही। मेरठ में यह संख्या रही 1070 ; लखनऊ में दूसरे दिन भी हजार से नीचे -कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित लखनऊ में यह संख्या 857 रही। कल यह संख्या 916 रही।

    #लगातार नौवें दिन भी गिरावट

    1: 30317
    2 : 30983
    4 : 25858
    5 : 31165
    6 : 26780
    7 : 28076
    8 : 26847
    9 : 23,333
    10: 21331
    11: 20463
    12 :18125
    13: 17775
    14: 15747
    15: 12500

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button