पंजाब कमाने गए बलिया के चार में दो बेटों के सड़क हादसे में मौत

सदमे में बिल्थरारोड के भीटा भुआरी गांव के परिजन, दो अन्य की हालत गंभीर

बलियाः जनपद बलिया के बिल्थरारोड से पंजाब कमाने गए चार में दो बेटों की सड़क हादसे में मौत की खबर रविवार को मिलते ही उभांव थाना के भीटा भुआरी गांव में मातम छा गया और परिजन सदमे में है। हादसे में दो अन्य घायल किशोर की हालत गंभीर बनी हुई है। मृतकों में मनीष यादव उर्फ छोटू (16) पुत्र फूलबदन यादव और आशुतोष यादव उर्फ मोनू (15) पुत्र घनश्याम यादव शामिल है। जबकि अतुल यादव (17) पुत्र रामशब्द यादव एवं अंकित यादव (17) पुत्र अवधेश यादव जालंधर के अस्पताल में जीवन मौत के बीच झूल रहे है। मृतक मनीष यादव उर्फ छोटू के बहन की 24 जनवरी को ही शादी होनी है। चारों किशोर दिसंबर माह में ही दिल्ली से पंजाब नौकरी के लिए गए थे और वहां रेस्टूरेंट में काम कर रहे थे। हादसे के समय सभी रेस्टूरेंट से निकल कर आधी रात को 12 बजे टेंपू से अपने कमरे पर जा रहे थे कि पीछे से किसी अज्ञात वाहन ने जोरदार टक्कर मार दी। सभी किशोर 14 जनवरी के बाद ही वापस अपने घर भी आने वाले थे।
एक माह पूर्व ही गए थे कमाने, मकरसंक्रांत के बाद वापस आने का था प्लान
सीयर ब्लाक के भीटा भुआरी गांव के प्रधान रविंद्र यादव और समाजसेवी शशिकांत यादव ने बताया कि हादसे से परिजन चेतनाशून्य सा हो गए है। इस गांव से एकसाथ आठ युवक दिल्ली कमाने गए थे। इनमें चार युवक दिल्ली में काम कर रहे है। जबकि 20 दिसंबर को चार युवक जालंधर रेस्टूरेंट में काम करने के लिए निकल गए। यहां से चारों किशोर 14 जनवरी को मकरसंक्रांत के बाद वापस अपने गांव आने की प्लानिंग कर चुके थे। परिजनों को भी बेटे के आने की उम्मीद थी। मृतक मनीष यादव उर्फ छोटू के बहन की 24 जनवरी को शादी की तिथि भी तय है। जिससे घर में मातमी सन्नाटा पसर गया है।
अपने बेटे का अंतिम दर्शन भी न कर सकेंगे परिजन
पंजाब में सड़क हादसे में बेटे के मौत से परिजन सदमे में है। परिजनों को अपने मृत बेटे का अंतिम दर्शन भी होना मुश्किल बताया जा रहा है। कारण कि गरीबी और घटनास्थल की दूरी के कारण हादसे के 24 घंटे बाद तक मृतक के परिजन पंजाब जाने की हिम्मत नहीं जुटा सके है। पंजाब से हादसे वाले क्षेत्र के थाना पुलिस और अस्पताल से बार बार फोन भी आता रहा। शव के पोस्टमार्टम के लिए पुलिस पंजाब में परिजनों के हस्ताक्षर के लिए परेशान थी और परिजन अपने बेटे के मौत और वर्तमान हालात को लेकर जूझ रहे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *