कठौड़ा में श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण को लेकर बढ़ने लगी गतिविधि

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री व मंत्री से मिल शिलान्याश में आने का दिया निमंत्रण पत्र

सिकंदरपुर (बलिया ) स्थानीय तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा कठौड़ा में निर्मित होने वाले भगवान श्री कृष्ण कृपा धाम के निर्माण को लेकर क्षेत्रीय लोगों में हर्ष व्याप्त है । वही महंथ प्रज्ञाननन्द जी महाराज द्वारा प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल, सूर्यप्रताप शाही से मिल कर आगामी 23 अक्टूबर को होने वाले भूमि पूजन हेतु निमंत्रण पत्र प्रदान करते हुए उनको आमंत्रित किया । ज्ञात हो कि मथुरा के भगवान श्रीकृष्ण योगपीठ चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा सरयू नदी के किनारे पूर्वांचल का सबसे बड़ा श्री कृष्ण शक्तिपीठ मंदिर का निर्माण करने का संकल्प लिया गया है। जिसके तहत इस मंदिर के निर्माण हेतु 3 एकड़ जमीन भी उपलब्ध हो गई है और उसमें ट्रस्ट द्वारा एक भव्य राधा कृष्ण मंदिर गौशाला वृद्धाश्रम व योग केंद्र का निर्माण भी किया जाना है । जिसको लेकर इलाकाई लोग बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है ।वही इस मंदिर के निर्माण हेतु गांव के लोगो द्वारा ढाई एकड़ जमीन भी उपलब्ध करा दी गई है । इस संबंध में इस मंदिर का कार्य देख रहे स्वामी प्रज्ञानंद जी महाराज ने बताया कि यह मंदिर पूर्वांचल का भव्य मंदिर होगा और इसमें राधा कृष्ण की मूर्ति के साथ ही सभी देवी देवताओं की मूर्ति की स्थापना कर आम जनता के पूजन दर्शन के लिए उपलब्ध कराया जाएगा साथ ही जनपद ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के सभी वर्गों के लोगों को दर्शनार्थ या मंदिर खुला रहेगा । बताया कि जिले के सभी जनप्रतिनिधियों सहित प्रदेश के मंत्री भी इस शिलान्यास कार्यक्रम में भाग लेंगे इसके लिए प्रत्येक ब्यक्ति से मिलकर उनको आमंत्रित किया जा रहा है । साथ ही मंदिर के शिलान्यास के बाद निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा ।
मंदिर में होगी भब्यता
सिकन्दरपुर (बलिया) इस मंदिर के निर्माण हेतु व्यापक प्रचार प्रसार किया जा रहा है और साथ ही इसके लिए आम जनता से केवल एक ईद दान देने का विकल्प रखा गया है वही इसके निर्माण हेत अब आम जनता भी धीरे-धीरे आगे आने लगी है । वही इस मंदिर को भव्य बनाने के लिए बाहर से मिस्त्री वह इंजीनियर बुलाए जा रहे हैं जिससे कि इस मंदिर को मथुरा वृंदावन की तरफ ही भव्यता का रूप दिया जा सके ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button