भूमाफियाओं ने सीयर अस्पताल को बेचा, जांच में जुटे अधिकारी, अस्पताल हुआ हैरान

सीयर सीएचसी की दस डिसमिल जमीन की हुई रजिस्ट्री

बलिया: बिल्थरारोड में भूमाफियाओं ने सीयर अस्पताल को ही बेच दिया। नगर के बीचोंबीच स्थित सीयर सीएचसी अस्पताल की करीब 10 डिसमिल जमीन को भूमाफियाओं ने 12 जुलाई को रजिस्ट्री कर दी। जानकारी मिलते ही अस्पताल प्रशासन में खलबली मच गई। तहसील के अधिकारी अब अस्पताल के भूअभिलेख खंगालने में लग गए है।

193060120211462

 

अस्पताल प्रशासन हैरान, भूअभिलेख खंगालने में जुटे प्रशासनिक अमला

बेची गई जमीन की चैहद्दी सीयर अस्पताल का प्रवेश द्वार और नवनिर्मित आक्सीजन प्लांट का हिस्सा बताया जा रहा है। सीएचसी अस्पताल अधीक्षक डा. तनवीर आजम ने मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। एसडीएम सर्वेश यादव ने भी अस्पताल की चैहद्दी दिखाकर भूमि बेचने की बात स्वीकारी। एसडीएम ने कहा कि बैनामा में दर्ज अराजी नंबर क्रेता की भूमिधरी बताई जा रही है किंतु चैहद्दी हैरान करने वाला है। जिसकी जांच की जा रही है।

सीयर सीएचसी की दस डिसमिल जमीन की हुई रजिस्ट्री

बिल्थरारोड प्रभारी उपनिबंधक दीपक सिंह के हस्ताक्षर से बिल्थरारोड के मौजा बिठुआ अंदर, आराजी नं. 220, रकबा 0.040 हेक्टेयर यानि 10 डिसिमिल (410वर्ग मीटर) की भूमि को दिनांक 12 जुलाई को बेचा गया है। हुए बैनामा में विक्रेता सुगन यादव ग्राम बिठुआ और क्रेता बसंत कुमार यादव ग्राम जिउतपुरा दर्शाया गया है। चैहद्दी के तहत पूरब में सरकारी अस्पताल, पश्चिम में फजलूद्दीन का मकान, उत्तर में रेलवे स्टेशन रोड और दक्षित में सरकारी अस्पताल अंकित है। जो चर्चा का विषय बना हुआ है। आपको बता दें कि इसके पहले ही बिल्थरारोड के सरकारी जमीन और सार्वजनिक भूमि पर भूमाफियाओं की नजर रही है।

सरकारी और सार्वजनिक भूमि पर पूर्व से रही है भूमाफियाओं की नजर
बिल्थरारोड में भूमाफियाओं की नजर पहले से ही सरकारी और सार्वजनिक भूमि पर रही है। इसके पूर्व भी भूमाफियाओं ने ब्लाक की भूमि को कब्जा करने का प्रयास किया था और बाउंड्री तोड़कर एक हिस्से पर कब्जा के दौरान जमकर बवाल हुआ था। पिछले साल सहकारी बैंक की भी तीन डिसमिल भूमि खरीदने मामले में बीजेपी विधायक धनंजय कन्नौजिया का नाम जमकर उछला। जबकि सपा सरकार में भूमाफियाओं ने नगर के रामलीला मैदान की भूमि को ही बैनामा कर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *