बिल्थरारोड तहसील गेट पर ही प्रशासन ने पूर्व मंत्री को रोका

तीन दिन के लिए आंदोलन स्थगित, वादाखिलाफी पर फिर करने पहुंचेंगे अनशन: छट्ठू

बलिया: जनपद के बिल्थरारोड विधानसभा की जनसमस्याओं को लेकर प्रस्तावित अनिश्चितकालीन अनशन को प्रशासन ने पहले दिन ही विफल कर दिया। बुधवार को प्रशासन ने बिल्थरारोड तहसील गेट बंदकर पूर्व मंत्री छट्ठू राम व उनके समर्थकों को रोक दिया। जिससे घंटो प्रशासन व नेताओं के बीच तहसील गेट पर जबरदस्त रस्साकसी हुई। समर्थकों संग अनशन करने पहुंचे पूर्व मंत्री छट्ठू राम को मांगों को पूरा करने के लिए उभांव इंस्पेक्टर योगेंद्र बहादुर सिंह के साथ तहसीलदार जितेंद्र सिंह ने तीन दिन का समय मांगा। कहा कि 3 दिन में आप के अधिकांश मांगे पूरी हो जाएगी। प्रशासनिक अमला लगा हुआ है। प्रशासन द्वारा आंदोलन की अनुमति न दिए जाने को लेकर पूर्व मंत्री द्वारा नाराजगी व्यक्त किए जाने के बाद पुलिस प्रशासन ने 3 दिन बाद मांग पूरा न होने पर आंदोलन करने की अनुमति देने का भी भरोसा दिया। जिसके बाद पूर्व मंत्री छट्ठू राम ने आंदोलन को तीन दिन के लिए स्थगित कर दिया। प्रस्तावित अनशन और आंदोलन को लेकर प्रशासनिक अधिकारी पहले से ही सतर्क थे। जिसके कारण प्रशासन ने अनशन की अनुमति ही नहीं दी थी। पूर्व मंत्री छट्ठू राम का काफिला उभांव थाना, चौकियां मोड़ होते हुए तहसील गेट पर ज्यों ही पंहुचा, प्रशासन ने उन्हें रोक लिया। जिससे समर्थकों में खलबली मच गई। इस दौरान प्रशासन व नेताओं में करीब आधे घंटे तक तीखी नोंकझोंक भी हुआ। बाद में उच्च अधिकारियों से वार्ता के बाद तहसीलदार जितेंद्र सिंह ने मांगों को पूरा करने के लिए प्रशासन के तरफ से तीन दिन का मोहलत मांगा। काफी होहल्ला के बाद आंदोलन को पहुंचे लोगों व समर्थकों को पूर्व मंत्री छट्ठू राम ने किसी तरह समझा कर शांत कराया और आंदोलन को स्थगित करने की घोषणा की। इस दौरान पूर्व मंत्री छट्ठू राम, कैप्टन गुलाब चंद्र मौर्य, राम अवध यादव, बुधन सिंह, संत चौहान, देवेंद्र पटेल, गुलाब गोंड, अरविंद गौतम, चंद्रभूषण तिवारी, आनंद शंकर, मिठाई लाल, पति राम चौहान, निशा राजभर, इमरान अंसारी, सुरेमन पासवान, सोनू गुप्ता, अमरनाथ राजभर, सुकई यादव, रीता देवी सहित बड़ी संख्या में महिला व समर्थक मौजूद थे।

प्रमुख मांगे-

1. बिल्थरारोड में वर्षों से बनकर तैयार कांशीराम आवास व आसरा के कमरों को चयनित जरुरतमंदों को आवंटित किया जाएं।
2. बिल्थरारोड तहसील से गोंड समाज के लोगों को अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र जारी किया जाएं।
3. बिल्थरारोड चैकिया मोड़-मधुबन मार्ग, पिपरौली-बेल्थराबाजार मार्ग का निर्माण कराया जाएं।
4. जर्जर विद्युत तार बदला जाएं।
5. सरयू व ताल किनारे जलजमाव से प्रभावित किसानों को मुआवजा दिया जाएं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button