बलिया में सपा के आनंद हुए जिलापंचायत अध्यक्ष

बलिया में योगी सरकार की करारी हार

बलियाः भारी दबाव और तनाव के बीच बलिया में जिलापंचायत अध्यक्ष का चुनाव सपा ने जीत लिया। सपा के आनंद चैधरी जनपद के नए जिलापंचायत हुए। जिन्हें डीएम आदिती सिंह ने जीत की बधाई के साथ प्रमाणपत्र सौंपा। सपा को बलिया में 33 और बीजेपी को 24 वोट मिले। चुनाव के दौरान बलिया में जबरदस्त तनाव की स्थिति बनी रही और पूरा कलेक्टेरिएट छावनी में तब्दील रहा। जीत के बाद बलिया में सपा कार्यकर्ताओं और नेताओं में जबरदस्त जश्न का माहौल रहा।


सपा को मिले 33 वोट
– बलिया जनपद में जिलापंचायत सदस्यों की कुल संख्या 58 है। इसमें सपा को 33 वोट मिला। जबकि भाजपा को महज 24 वोट ही मिले। जबकि एक वोट नहीं मिला। जिससे सपा ने 9 वोट से जीत दर्ज कर लिया और भाजपा सरकार में बलिया में मजबूत विपक्ष होने का प्रमाण दे दिया। सपा की तरफ से एक ही बस से करीब 22 जिपं सदस्य एकसाथ जब कलेक्टेरिएट के पास अपना वोट देने पहुंचे तो हड़कंप मच गया था। भाजपा कार्यकर्ताओं ने बस को रोकना चाहा था। जिसे लेकर सपा और भाजपा के कार्यकर्ता भिड़ने ही वाले थे कि बीच में पुलिस ने आकर बड़ा बवाल टाल दिया। पूरी तरह से छावनी में तब्दील बलिया में पुलिस हरएक के गतिविधि पर नजर बनाएं रखा।

बलिया में योगी सरकार की करारी हार
– बलिया जिलापंचायत चुनाव में योगी सरकार की करारी हार हुई है। योगी सरकार के दो मंत्री उपेंद्र तिवारी, आनंद स्वरुप शुक्ला, राज्यसभा सांसद नीरज शेखर, विधायक संजय यादव ने पूरे चुनाव को अपने सम्मान से जोड़कर चुनाव लड़ रहे थे और अपनी पूरी ताकत झोंक दिया था। चुनाव के दौरान मंत्री उपेंद्र तिवारी ने सपा प्रत्याशी के पिता और पूर्व मंत्री अंबिका चैधरी पर अनेक तहत आरोप लगाते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी तक कर दिया था। जिससे जनपद में राजनीतिक तनाव जारी था।

बलिया में भारी साबित हुई सपा, भाजपा में जुझारी कार्यकर्ताओं का भी अभाव
– जिलापंचायत अध्यक्ष के चुनाव में जहां भाजपा ने बड़बोलापन से स्वयं का नुकसान किया। वहीं सपा ने सधि राजनीति के तहत चुनाव पर अपना ध्यान केंद्रित रखा। जीत तय करने के लिए पूर्व मंत्री अंबिका चैधरी, पूर्व मंत्री नारद राय, पूर्व विधायक मो. रिजवी, संग्राम सिंह यादव, राजमंगल यादव, पूर्व विधायक जयप्रकाश यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष आद्याशंकर यादव, पूर्व विधायक गोरख पासवान, पूर्व जिपं अध्यक्ष सुधीर पासवान पूरी एकजुटता के साथ जनपद की मजबूत घेराबंदी किया। मतदान के दौरान भी सपा का जोश और एकजुटता देखते ही बन रही थी। वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं की कम संख्या लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *