सिंगरौली जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति स्थिर, गुरुवार को मिले 6 पॉज़िटिव तो इतने ही स्वस्थ भी हुए

सिंगरौली। ट्रूनाट मशीन से जांच में एनसीएल के जयंत स्थित नेहरू शताब्दी चिकित्सालय में दो कर्मियों को कोरोना संक्रमित पाया गया है। इनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आयी है, फलतः सत्यापन के लिए इनके सैंपलों को रीवा मेडिकल कॉलेज के लैब में भेजा गया है।

जिला जेल पचौर के 2 बंदी व सीआईएसएफ कैम्प अमलोरी के एक जवान भी कोरोना पॉजीटिव मिले हैं। जिले में अब तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 335 तक पहुंच गयी है। जानकारी के मुताबिक एनएससी के 2 कर्मी ट्रूनाट मशीन व्हीएमएल थ्रोट के जांच में कोरोना पॉजीटिव पाये गए हैं। इस रिपोर्ट के मिलने के बाद नेहरू चिकित्सालय प्रबंधन में हड़कम्प मच गया है।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को भी 2 कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद वहां के प्रबंधन ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों, ड्यूटी कर रहे सुरक्षा गार्डों, काफी हाउस के कर्मचारियों आदि का सेम्पल लेने के लिए जिला प्रशासन को पत्र भेजा था।

अंतत: सीएमएचओ डॉ.आरपी पटेल ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ नेहरू चिकित्सालय पहुंचकर उन्हें समझाईश दी। तब एनएससी प्रबंधन सहज हुआ। वहीं बुधवार को फिर से दो कोरोना संक्रमित कर्मचारी पॉजीटिव पाये जाने के बाद हड़कंप मच गया। इसके अलावा पचौर जेल के दो बंदी जिनकी उम्र क्रमश: 22 एवं 46 वर्ष के हैं। साथ ही एनसीएल परियोजना अमलोरी के सीआईएसएफ कंपनी का एक 47 वर्षीय जवान कोरोना पॉजीटिव मिला है।

जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 335 तक पहुंच गयी है। तो वहीं अब तक 703 सेम्पलों की रिपोर्ट लंबित है। जिसमें 217 सेम्पल बुधवार को मेडिकल कॉलेज रीवा के लैब में भेजे गये हैं। जिले के लिए खुशी की बात है कि 26 लोग आज कोरोना को मात देकर अपने घर गये हैं। स्वस्थ्य होने वाले व्यक्तियों की संख्या 235 पहुंच गयी है। जिले में कोरोना संक्रमित लोगों के ठीक होने की संख्या बढऩे से जिला प्रशासन भी राहत भरी सांस ले रहा है।

गुरुवार को जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार आज जिले में मिले 6 नए पॉजिटिव केस आए। अब जिले में कुल संक्रमितों
की कुल संख्या 338 हो गई है। 6 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ हुए जिससे अब तक स्वस्थ हुए कुल मरीजों की संख्या 241 हो गई है। जिले में एक्टिव मामलों की संख्या आज भी 90 ही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button