बिल्थरारोड में एसडीएम ने पिलाई चाय और पुलिस ने दर्ज कर दिया मुकदमा

यूपी में चल रही दोहरे कानून वाली एकलौती सरकार, फूंकेंगे बलिया एसपी का पुतलाः गोरख - बिल्थरारोड पूर्व विधायक, सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष व अन्य नेता बने लाकडाउन उलंघन के मुजरिम

बलियाः जनसमस्याओं को लेकर राज्यपाल के नाम बिल्थरारोड एसडीएम को ज्ञापन देने पहुंचे सपा नेताओं पर पुलिस ने लाकडाउन उलंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज कर दिया है। इसकी जानकारी सपा नेताओं को मुकदमा दर्ज होने के तीसरे दिन हुई। मजे की बात कि बिल्थरारोड के अतिविवादित तत्कालीन एसडीएम अशोक चैधरी ने सपा नेताओं से जनसमस्याओं से संबंधित राज्यपाल ने नाम संबोधित ज्ञापन लेने के बाद अपने कार्यालय में तीन सपा नेताओं संग करीब आधे घंटे तक वार्ता किया और सभी चाय भी पिलाया। तब तक लाकडाउन उलंघन का कोई मामला नहीं रहा किंतु एसडीएम द्वारा विवादित हरकत किए जाने एवं मास्क की चेकिंग के नाम पर जमकर जनता पर लाठी बरसाने की घटना के बाद सपा नेताओं पर ही चुपके से मुकदमा दर्ज कर दिया गया।

 

पुलिस ने उक्त कार्रवाई को स्थानीय मीडिया से भी गोपनीय ही रखा। पुलिस ने मामले में भादवि की धारा 188, 269 व 3 महामारी अधिनियम के तहत पूर्व विधायक गोरख पासवान, पूर्व जिलाध्यक्ष आद्याशंकर यादव के अलावा विधानसभा अध्यक्ष इरफान अहमद, सपा नेता रामशरण व विरेंद्र समेत करीब 15-20 अज्ञात सपा कार्यकर्ताओं को मुजरिम बनाया है। पुलिस के उक्त कार्रवाई की तीसरे दिन जानकारी होने पर सपा पदाधिकारियों में जबरदस्त आक्रोश व्याप्त हो गया। सपा ने पुलिस के उक्त कार्रवाई की घोर निंदा करते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या बताया। पूर्व विधायक गोरख पासवान ने कहा कि देश में दोहरा कानून व दोहरे चरित्र वाला यूपी की एकलौती योगी सरकार है। जहां मुख्य विपक्षी दल द्वारा जनता की आवाज को लोकतांत्रिक तरीके से उठाने पर धाराओं का भय दिखाया जा रहा है और फर्जी मुकदमें दर्ज किए जा रहे है।

योगी सरकार में सपा के लिए अलग कानून और भाजपा समर्थित लोगों के लिए अलग कानून। यूपी में योगी सरकार व उनके अधिकारी अब संविधान का भी माखौल उड़ा रहे है। गरीबों की आवाज बनने पर सपा पर मुकदमा दर्ज किया गया। जबकि भाजपा वाले बीच चैराहे पर अधिकारी का पुतला फूंक रहे है, जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुआ। ऐसी दोहरे कानून वाली सरकार को जनता जरुर जवाब देगी और जनता व सपा कार्यकर्ताओं पर ऐसे ही फर्जी मुकदमें लादे जायेंगे तो मजबूरन सपा जनपद के एसपी का भी पुतला फूंकने को बाध्य होगी। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष आद्याशंकर यादव ने कहा कि राजनीति में ऐसे कार्रवाई से सपा कतई डरने वाली नहीं है।

जनता की आवाज व क्षेत्र के विकास के लिए वर्तमान सरकार से जवाब तो मांगा ही जायेगा और सरकार को जवाब देना होगा। पुलिस प्रशासन से ऐसी कार्रवाई कराकर सरकार विपक्ष को डराने की कोशिश कर रही है ताकि बाढ़, जलजमाव, आपदा, भूखमरी, बिजली, सड़क जैसी मूलभूत समस्याओं की आवाज सरकार दबा सके। लेकिन इससे समस्याओं को लेकर उठने वाले आवाज दबने वाले नहीं है और न ही सपा जनता की आवाज उठाने से चुकने वाली है। कहा कि जल्द ही बाढ़, सड़क, बिजली व थाना-तहसील पर चल रहे मनमानीपूर्ण रवैये को लेकर व्यापक बदलाव न हुआ तो सपा चरणबद्ध आंदोलन करने को बाध्य होगी। मालूम हो कि गत 20 अगस्त को सपा ने जनसमस्याओं को लेकर बिल्थरारोड तहसील का सांकेतिक घेराव व प्रदर्शन करते हुए करीब 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन एसडीएम को सौंपा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button