लोगों को एसडीएम ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, हुए निलंबित

बलिया । यूपी के बलिया जिले में गुरुवार को पुलिस के साथ सड़क पर उतरे एसडीएम अशोक चौधरी ने सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के नाम पर तहसील में आए लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा । बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा । तहसील के बाहर स्थित दुकानों पर मौजूद कारोबारियों को भी दुकानों से निकाल निकाल कर पीटा। इस दौरान एसडीएम तो लाठियो से पीटते ही रहे उनके साथ मौजूद पुलिस वालों ने भी लाठियां बरसाईं। कई दुकानदारों को इससे चोट आई। एक का तो हाथ ही फट गया। मामले की जानकारी मिलने के बाद शासन के निर्देश पर उन्हें निलंबित कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार बिल्थरारोड तहसील के पास गुरुवार को एसडीएम ने सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का प्रयोग नहीं करने वालों के खिलाफ अचानक अभियान शुरु कर दिया। उन्होंने तहसील में मौजूद लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटना शुरु कर दिया। इसके बाद भगदड़ मच गयी। लोग इधर-उधर भागने लगे। पुलिस व होमगार्ड के जवानों के साथ तहसील परिसर में लोगों की पिटाई करने के बाद वह बाजार की ओर चल पड़े।

सड़क से गुजरते समय बाइक सवार लोगों पर लाठी बरसाई। इसके बाद वह चौकिया मोड़ पर पहुंचे जहां अपनी किराने की दुकान पर मौजूद रजत चौरसिया को दुकान से बाहर खींचकर पिटाई करने लगे। एसडीएम की पिटाई से उसका एक हाथ फट गया और खून बहने लगा। भाई को बचाने व एसडीएम के सामने अपना पक्ष रखने पहुंचे आशुतोष चौरसिया को भी उपजिलाधिकारी ने लाठियों से पीटा और जवानों के साथ उभांव थाना भेज दिया।
एक दुकानदार ने मास्क लगा रखा था, जबकि दूसरे ने अपने मुंह पर रुमाल बांध रखा था। यही नहीं, वायरल वीडियो में एक युवक मास्क लगाए खड़ा है। उसे भी एसडीएम दौड़ाकर लाठियों से पीटते दिख रहे हैं। लोगों का कहना है कि सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं करने व मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना व महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई करने का प्रविधान है। ऐसे में एसडीएम द्वारा लोगों को लाठियों से पीटना पूरी तरह से गलत है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button