बलिया में राशन दुकान चयन की खुली बैठक में हंगामा, बैठक निरस्त

अधिकारियों को महिलाओं ने घेरा, पिछले रास्ते से निकले सुरक्षित

बलिया: जनपद के बिल्थरारोड तहसील में नगरा ब्लाक के जमुआंव गांव के लिए राशन दुकान चयन हेतु सोमवार को जमुआंव पंचायत भवन पर हुए खुली बैठक में जमकर हंगामा हुआ। सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने अधिकारियों को ही घेर लिया। जहां एक भी महिला पुलिस न होने के कारण अधिकारियों की जमकर फजीहत हुई। पिछड़ी महिला हेतु आरक्षित गांव के सरकारी राशन दुकान के लिए खुली बैठक में मिले चारों आवेदन को अधिकारियों द्वारा अपात्र बताते ही जमकर हो हल्ला हुआ और दो पक्ष आमने सामने हो गए। हंगामा के बीच बैठक स्थगित की घोषणाकर अधिकारी जाने के लिए बाइक पर बैठे ही थे कि एक पक्ष ने महिलाओं को आगे कर अधिकारियों को घेर लिया। जिससे अधिकारियों की सांसें टंग गई।

हालांकि कुछ लोगों ने बीचबचाव कर अधिकारियों को पिछले रास्ते से सुरक्षित गांव से बाहर निकाला। इधर गांव में घंटों तनाव की स्थिति बनी रही। मौके पर तैनात पुलिसकर्मी भी भीड़ के समक्ष विवश ही दिखे। जहां दो पक्षों में जकर खींचतान व हाथापाई तक हो गई। जिससे बैठक पूरी तरह से हंगामेदार हो गया। राशन दुकान चयन हेतु खुली बैठक कराने के लिए सोमवार को बतौर पर्यवेक्षक एडीओ कृषि रमाकांत राम संग ग्राम सचिव असरफ अली, जावेद आलम व अश्वनी यादव गांव में पहुंचे। बैठक में उजाला स्वयं सहायता समूह, महात्मा गांधी स्वयं सहायता समूह, अंबेडकर स्वयं सहायता समूह व गौतम बुद्ध स्वयं सहायता समूह समेत चार आवेदन हुए। पर्यवेक्षक रमाकांत राम ने बताया कि उक्त बैठक में मिले विभिन्न समूह के चार आवेदन आरक्षण के आधार पर खारिज हो गए। जिसके बाद दो समूह के लोगों ने हंगामा शुरु कर दिया। इस बीच एक समूह के लोगों के उकसाने पर कुछ महिलाओं ने अधिकारियों को ही घेर लिया। जहां महिला पुलिस न होने के कारण स्थिति को नियंत्रित करने में काफी परेशानी हुई और गांव के ही कुछ लोगों के सहयोग से सभी अधिकारी पीछे के रास्ते से सुरक्षित निकल सके। पर्यवेक्षक ने बताया कि उक्त बैठक को स्थगित कर दिया गया है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर अगली बैठक आयोजित होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button