सपा सरकार ने अति पिछड़ी 17 जातियों को अनुसूचित जाति में किया था शामिल -रमेश

अगले विधानसभा चुनाव में भाजपा को देना होगा जबाब

सिकंदरपुर(बलिया) अपने नकामियो को छुपाने के लिए यह सरकार तरह तरह के हथकंडे अपना रही है।बेरोजगार सड़कों पर रोजगार के लिए आंदोलन कर रहा है।किसान जब अपनी मांगो को लेकर धरना देता है। तो उस पर लाठियां बरसाई जाती है।उक्त बातें समाजवादी पार्टी के अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व मंत्री रमेशचंद साहनी ने शुक्रवार को सोनपुरवा में बिंद, मल्लाह समाज द्वारा आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए कहा।उन्होंने कहा कि पूरा सरकारी अमला और सरकार प्रदेश की जनता को लूटने में व्यस्त है।कोरोना जैसे महामारी में 22 सौ रुपये का किट 12 हजार रूपए में खरीदा जा रहा है।7 सौ रुपए का आक्सिमीटर 5 हजार रूपए में खरीदा जा रहा हैं।कोरोना महामारी में बहुत बड़ा घोटाला हुआ है।एक तरफ जनता दवा और अस्पताल में इलाज के विना मर रही है और कफन में दलाली खाने वाले लोग इस आपदा में लूट का अवसर निकाल लिये।प्रदेश में बेटियों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है।अब तो प्रदेश में सरेयाम पूर्व विधायक की हत्या हो जाती है।पूरा प्रदेश अराजकता के हवाले है। कहा कि सपा की सरकार में गरीबी की मार झेल रहे 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति जनजाति में शामिल किया गया था । लेकिन भाजपा की सरकार बनते इन जातियों को अनुसूचित जाति से बाहर कर दिया गया । जिसका जबाब जनता आने वाले चुनाव में देगी । बैठक को पूर्व मंत्री मो जियाउद्दीन रिजवी, डॉ मदन राय,रामजी यादव,मुन्नीलाल यादव,विरबहादुर वर्मा,शिवजी त्यागी,गुरुजलाल राजभर,देवनरायन यादव,सहजानंद बिंद,दिग्विजय सिंह , कमलेश यादव,हरिंदर पासवान आदि लोगो ने संबोधित किया। बैठक की अध्यक्षता गंगासागर बिंद एवं संचालन जिला पंचायत सदस्य रवि यादव ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button