बलिया पहुंचे एडीजी, प्रशासन की भूमिका पर उठ रहे सवाल

हर दल ने की घटना की निंदा

बलिया: राशन दुकान के लिए हुए खुली बैठक के दौरान बलिया के रेवती थाना के दुर्जनपुर में सीओ, एसडीएम की मौजूदगी में हुए पथराव, बवाल और जय प्रकाश उर्फ गामा पाल की गोली मारकर हत्या की घटना के 24 घंटे बाद तक गांव में मातम व तनाव का माहौल रहा। मामले की जांच को शुक्रवार को अपर पुलिस महानिदेशक वाराणसी जोन बृजभूषण भी बलिया पहुंचे और एसपी देवेंद्र नाथ संग घटनास्थल का जायजा लिया और आवश्यक निर्देश दिए। इधर घटना को लेकर हर दल के नेताओं ने वर्तमान सरकार में बढ़ते अपराधिक घटनाओं को लेकर जमकर हमला बोला और घटना की घोर निंदा की। घटनास्थल पर खुली बैठक में तनाव की पहले से जानकारी होने के बावजूद पर्याप्त सुरक्षा बल न होने एवं खुली बैठक में असलहा लेकर शामिल होने को पुलिस द्वारा नजरअंदाज किए जाने को लेकर प्रशासनिक भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं। सपा जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव ने घटना की घोर निंदा की और प्रदेश में चल रहे जंगलराज के लिए योगी सरकार के विफलता को जिम्मेदार बताया।


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सीबी मिश्र ने परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया और पीड़ित परिवार को 50 लाख की सहायता व सरकारी नौकरी की मांग की। बैरिया के पूर्व विधायक जयप्रकाश अंचल ने उक्त घटना को प्रदेश में बढ़ते अपराध व जंगलराज से जोड़ते हुए कहा कि योगी सरकार की ठोको नीति सिर्फ और सिर्फ गरीब मजदूरों पर चल रही है। अपराधी बेलगाम हो गए और अधिकारी भी अपराधियों का संरक्षण करने में लगे हैं। बैरिया के सपा नेता विवेक कुमार त्यागी ने फेसबुक पर मैसेज पोस्ट कर कहा है बलिया में यदि किसी को हटाना है तो बलिया के एसपी डीएम को हटाओ, सबसे लापरवाह यही दोनों है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button