यूपी में ब्राह्मण को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया जाए : प्रमोद कृष्णम्

जौनपुर । कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने ब्राह्मण जनजागरण को लेकर रविवार को ZOOM ऐप्प पर वर्चुअल मीटिंग आयोजित की जिसमें पूरे उ.प्र से 108 ब्राह्मणों ने भाग लिया। इस मौके पर मेरठ से सतीश शर्मा के प्रस्ताव को एकमत से पारित किया गया, जिसमें यह फैसला लिया गया कि काँग्रेस हाईकमान को यह प्रस्ताव दिया जाए कि 2022 में उ.प्र. में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में किसी भी ब्राह्मण को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया जाए।

अपने समापन के उद्बोधन में  कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने जातियों के नाम पर हो रहे आरक्षण के वर्तमान स्वरूप को देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा बताते हुए आरक्षण का आधार जाति न होकर आर्थिक होना चाहिए इस बात पर जोर देते हुए कहा सभी राजनैतिक दलों को इस बात पर चिंतन करना चाहिए।

गरीब किसी भी जाति और धर्म का हो उसे आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए। कोरोना काल खत्म होने के बाद  उ. प्र. की राजधानी लखनऊ में एक विशाल ब्राह्मण महासम्मेलन “का आयोजन किया जाएगा इसकी घोषणा भी आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने की। आज अटल विहारी वाजपेई की पुण्यतिथि पर आचार्य जी ने श्रद्धांजलि अर्पित की और वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी को भी श्रद्धांजलि अर्पित की और उनकी आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन धारण किया।

प्रतापगढ़ के रानीगंज में आज की गई 2 ब्राह्मणों की हत्या की आचार्य ने निंदा की। इस अवसर पर सुरेंद्र त्रिपाठी,संजय शर्मा, डॉ विजय प्रताप तिवारी, डॉ अनुराग मिश्रा, अमिष तिवारी, अंकित तिवारी,पंकज उपाध्याय सहित 108 ल9वो ने पूरे प्रदेश से भाग लिया। इस वर्चुअल मीटिंग का संचालन गौरव दीक्षित ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button