बलिया में दो रंग के जूतों संग फुटबाल टूर्नामेंट खेलता दिखा खिलाड़ी

जनअधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव फजील अहमद ने जताया दुख

बलियाः बिल्थरारोड जीएमएएम खेल मैदान में हो रहे आल इंडिया फुटबाल टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में एक खिलाड़ी दो रंग के जूतों के साथ खेल मैदान में उतरा तो उसके हालात को लेकर हर किसी ने दुख जताया। यह खिलाड़ी खैराबाद मऊ की टीम में सात नंबर का यह फुटबाल खिलाड़ी लाल और काला रंग के जुतों में खेल मैदान में उतरा था। मैच के दौरान मुख्यअतिथि के रुप में मौजूद जनअधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव फजील अहमद ने इस पर दुख जताया।


बोले जनअधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव फजील अहमद
जनअधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव फजील अहमद ने कहा कि सरकार डिजिटल इंडिया का दावा करती है। जबकि सिर्फ पुंजीपतियों के बीच फंसी हुई है। खेल और खिलाड़ियों की दशा सुधारने के लिए युवाओं को प्ले स्टोर से बाहर निकाल सरकार को उन्हें असली खिलाड़ी बनाकर प्ले ग्राउंड से जोड़ना होगा। जबकि सांसद खेल स्पर्धा के नाम पर सरकार ने अरबों रुपया पानी में बहा दिया। जमीनी स्तर पर खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया जा रहा है। फजील अहमद ने कहा कि जीएमएएम खेल मैदान में उतरे खिलाड़ी ओरिजनल प्ले ग्राउंड के खिलाड़ी है। इन्हें मौका मिले तो देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन कर दें।


फट गया जूता तो चलाया काम
क्वार्टर फाइनल मैच में कोपागंज की टीम के खिलाफ मैदान में उतरी खैराबाद मऊ के टीम का सात नंबर का खिलाड़ी अब्दुला राशिद सबके निगाहों को कष्ट देता रहा। कारण कि उसके पांव में दो रंग का जूता था। अब्दुला राशिद ने बताया कि एक जूता उसका फट गया था तो उसने दो रंग के जूते से काम चलाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *