बैंकों से लोन स्वीकृति में कमीशन का खेल, नहीं हो रहा पासबुक प्रिंट

बलियाः जनपद में संचालित विभिन्न राष्ट्रीयकृत बैंकों से होम व पर्सनल लोन स्वीकृति में जमकर कमीशन का खेल जारी है। वहीं बैंकों में बचत खाताधारकों के पासबुक तक प्रिंट नहीं हो पा रहा है। खासकर बिल्थरारोड के बैंकों की हालत भगवान भरोसे है। जहां बैंक अधिकारियों की मनमानी चरम पर है। जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बैंकों में पहले लोन की फाइल स्वीकृत करने एवं बाद में बड़े लोन की किस्त देने के नाम पर भी जमकर कमीशन का खेल जारी है। जिससे लोन स्वीकृत कराने वाले ग्राहकों एवं बैंककर्मियों में जबरदस्त खींचतान व तनाव की स्थिति बनी रह रही है। पिछले दिनों तो इंडियन बैंक के मैनेजर एवं लोन की किस्त को लेने पहुंचेएक शिक्षक में जमकर तनाव की स्थिति बन गई। इंटर कालेज के शिक्षक श्रीकांत यादव ने बैंक मैनेजर पर अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए बताया कि उक्त बैंक से पुरानी होमलोन की किस्त जमा किए जाने के बावजूद बकाया दिखाया जा रहा था। बाद में मैनेजर ने इसे बैंक की चूक बताकर मामला सलटा दिया। बाद में केसीसी कराने के लिए पहल किया तो सुविधा शुल्क के बिना केसीसी स्वीकृत नहीं किया गया। जिसे लेकर कई बार बकझक हुआ। कुछ ऐसी ही स्थिति ओरिएंटल बैंक का भी है। यहां भी बैंक लोन के लिए सुविधा शुल्क को लेकर जमकर ग्राहकों से तनाव की स्थिति बनी हुई है। इधर बिल्थरारोड यूनियन बैंक आफ इंडिया में पासबुक प्रिंट कराने के लिए खाताधारकों को काफी परेशान होना पड़ रहा है। लेनदेन का विवरण न मिलने से बैंक के ग्राहकों में घोर आक्रोश व्याप्त है। भाजपा नेता व क्षेत्रीय संयोजक लघु उद्योग प्रकोष्ठ गोरक्ष प्रान्त देवेन्द्र कुमार गुप्त ने क्षेत्रीय बैंक प्रबंधक को लिखित ज्ञापन भेज बिल्थरारोड बैंक शाखा में पासबुक प्रिंटर मशीन दुरुस्त करवाने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button