सम्पूर्ण समाधान दिवस-वरासत लंबित रखने पर लेखपाल को सस्पेंड करने के आदेश

सदर तहसील में जनसुनवाई के दौरान जिलाधिकारी ने दिए निर्देश - इस दौरान कुल आई 134 शिकायतों में 17 का मौके पर कराया निस्तारण .

बलिया: संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन मंगलवार को जिले की सभी तहसीलों में हुआ। जिलाधिकारी एसपी शाही ने सदर तहसील में जनता की शिकायतों को सुना और सम्बन्धित अधिकारियों को निस्तारण के लिए कड़े दिशा-निर्देश दिए। कुछ शिकायती पत्रों के तत्काल समाधान के लिए उन्होंने मौके से ही जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम बनाकर मौका मुआयना के लिए भेजा।

सम्पूर्ण समाधान दिवस में सालिक राम निवासी जगदीशपुर ने वरासत लंबित रहने की शिकायत करते हुए कहा कि इसके लिए पिछले छह महीने से लेखपाल महीप सिंह दौड़ा रहे हैं। इस पर जिलाधिकारी ने तत्काल लेखपाल को निलंबित करने का आदेश दिया। उन्होंने कहा, अविवादित वरासत के हर मामलों के निस्तारण के लिए 15 दिनों का एक विशेष अभियान चलाया गया, बावजूद इसके लंबित रहना आपत्तिजनक है। ऐसे में लापरवाह लेखपालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। वरासत रजिस्टर की जांच भी का लेने को कहा।

जनसमस्याओं को सुनने के बाद जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी अपने विभाग से जुड़ी समस्याओं के प्रति पूरी संवेदनशीलता से कार्यवाही करें। कोशिश करें कि जितना जल्द हो सके, गुणवत्तापूर्ण निस्तारण हो जाए। उन्होंने कहा कि अब निस्तारण की समीक्षा होगी और जिन अधिकारियों-कर्मचारियों की लापरवाही मिलेगी, उनकी जवाबदेही तय की जाएगी। उन्होंने पिछले सम्पूर्ण समाधान दिवस के शिकायतों के समाधान की भी समीक्षा की। जिन विभाग से जुड़ी शिकायत लंबित थी, उनको कड़ी चेतावनी दी गई कि जल्द से जल्द गुणवत्तापरक निस्तारण करा दें।

जनसुनवाई के दौरान चौरा में सार्वजनिक कुंवा को पाटने की शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार को निर्देश दिया कि नरहीं थाना पुलिस के सहयोग से इसे तत्काल रोकवाएँ और जरूरत के हिसाब से कार्रवाई भी करें। पटखौली गांव में शिक्षामित्र और कोटेदार का दायित्व एक ही व्यक्ति के पास कभी होने की शिकायत पर डीएसओ व बीएसए को उचित कार्यवाही कर अवगत कराने को कहा। राशन, पेंशन, अवैध कब्जे आदि से जुड़े मामले भी आए, जिनको सम्बन्धित अधिकारी को सौंपते हुए निपटाने के निर्देश दिए। इस दौरान एसडीएम राजेश यादव, डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव, तहसीलदार गुलाब चंद्रा, नायब तहसीलदार जया सिंह, सीओ जगवीर सिंह समेत जिला स्तरीय अधिकारी थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button