महोबा के निलंबित एसपी और SO पर भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज

लखनऊ-महोबा : भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार समेत दो निलम्बित थानेदारों के खिलाफ गुरुवार को भ्रष्टाचार का केस दर्ज हो गया। कंस्ट्रक्शन कंपनी के डायरेक्टर की तहरीर पर दर्ज केस में सभी पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं, इसमें एसपी पर दो लाख रुपये महीने मांगने का आरोप है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का काम करा रही पीपी पाण्डेय इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी के डायरेक्टर नितीश पाण्डेय ने गुरुवार को नवागत एसपी को शिकायती पत्र दिया। इसके बाद एक थानेदार समेत तीन को निलम्बित कर दिया गया। शाम होते-होते डायरेक्टर की तरफ से कोतवाली में तहरीर दे दी गई। इसमें वायरल वीडियो मामले में निलम्बित एसपी मणिलाल पाटीदार के साथ खन्ना थाना प्रभारी राकेश कुमार व तत्कालीन खरेला थानाध्यक्ष एसएसआई राजू सिंह पर गंभीर आरोप लगाए गए।

कंपनी डायरेक्टर के अनुसार, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण में उनके ट्रक गिट्टी ढुलाई में लगे हैं। सारे कागज पूरे होने के बाद भी खन्ना और खरेला थानों के अलावा इनमें पड़ने वाली चौकियों में उनके ट्रक रोककर चालान, एफआईआर और उत्पीड़न की कार्रवाई की गई। उन्होंने गंभीर आरोप लगाया कि तत्कालीन एसपी ने फोन करवाकर अपने प्रोजेक्टर मैनेजर अमित त्रिपाठी को अपने आ‌वास पर बुलवाया और दो लाख रुपये महीने की मांग की। उन्होंने धमकी दी कि रुपये नहीं पहुंचाए तो इसी तरह कार्रवाई होती रहेगी।

प्रोजेक्ट मैनेजर ने असमर्थता जाहिर की तो अगले दिन फिर उनके पांच ट्रक पकड़ लिए गए और एफआईआर की गई। इसके बाद थानेदारों की तरफ से लगातार धमकी मिलती रही और वह एसपी से मिलने का दबाव डालते रहे। उनकी इस तहरीर पर गुरुवार को भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button