कांशीराम व आसरा आवास का वर्षों से नहीं हुआ आवंटन, पूर्व मंत्री करेंगे अनशन

आवास का निरीक्षण कर 23 सितंबर से आंदोलन करने की दी चेतावनी

बिल्थरारोड (बलिया)ः करीब आठ वर्ष पहले से बलिया जनपद के बिल्थरारोड में बन कर तैयार कांशीराम आवास एवं आसरा आवास योजना के भवन का अब तक आवंटन नहीं किया जा सका है। जो प्रशासनिक बेपरवाही एवं नकारापन का सबसे बड़ा प्रमाण है। उक्त बातें पूर्व मंत्री छट्ठू राम ने रविवार को पत्रकारों से कही। उक्त भवनों का निरीक्षण करने के बाद प्रशासनिक लापरवाही पर पूर्व मंत्री ने जमकर अपनी नाराजगी जताई। पूर्व मंत्री यहां रहने वाले कई परिजनों से वार्ता भी की और उनकी समस्याओं की जानकारी ली। कहा कि करोड़ों रुपए की लागत से करीब 96 कमरों की क्षमता वाला कांशीराम आवास एवं आसरा आवास का भवन तो बनकर तैयार हो गया। लेकिन सरकार द्वारा मिले उक्त योजना के तहत बने भवन के आवंटन को लेकर सरकारी मशीनरी की इतनी बेपरवाह तो प्रदेशभर में एकलौता होगा। जहां सिर्फ अधिकारियों की लापरवाही के कारण किसी योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है और वर्षों तक अधिकारियों को इसके लिए फुर्सत तक नहीं।

इधर कुछ गरीबों ने यहां शरण लिया तो इन्हें अवैध कब्जा बताकर जबतब कर्मचारियों, अधिकारियों द्वारा भवन से बाहर निकालने के बहाने जमकर धनउगाही शुरु किया जाने लगा है। जबकि उक्त भवन के आवंटन हेतु प्रशासनिक अमला की सुस्ती लगातार जारी है। कहा कि वे स्वयं 23 सितंबर से इसके आवंटन को लेकर पूर्व पीएम चैधरी चरण सिंह प्रतिमा के नीचे आंदोलन शुरु होगा और वे जनसमस्याओं को लेकर आमरण अनशन पर बैठेंगे। बता दें कि कांशीराम आवास योजना के तहत करीब 36 परिवार के लिए बना तीन मंजीला भवन लगभग आठ वर्ष पूर्व ही तैयार हो गया था। उक्त भवन से सटे ही 60 आवास वाला आसरा योजना के तहत बना विशाल बिल्डिंग भी वर्षों पूर्व ही बनकर तैयार हो गया। जिसमें नगर के 60 गरीबों को आवास मिलना है। जिसमें आवंटन को लेकर प्रशासनिक सुस्ती जारी है। अवैध कब्जा हो चुका है।

नपं को स्थानांतरित होते ही होगा जरूरतमंदों को आवंटित

– बिल्थरारोड नपं ईओ ब्रजेश गुप्ता ने बताया कि कांशीराम आवास योजना व आसरा के तहत लाभार्थियों की सूची तैयार है। जिसकी आखिरी स्वीकृति एसडीएम स्तर से होना है। सब ठीक रहा तो जल्द ही लाभार्थियों को आवास आवंटित कर दिया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button