कोविड स्‍क्रीनिंग रोकथाम में प्रदेश में विकसित तकनीक को अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के शोध पत्र ने किया प्रकाशित

मुख्‍यमंत्री ने एकेटीयू व केजीएमयू द्वारा विकसित तकनीक का किया था लोकापर्ण ,अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के शोध पत्र पब्लिकेशन एल्‍जिवियर ने किया प्रकाशित .

लखनऊ । एकेटीयू और किंग जार्ज चिकित्सा विवि के कोविड-19 रोगियों की स्‍क्रीनिंग के लिए बनाए गए जिस टूल किट का लोकापर्ण मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने किया था। उसे दुनिया के टॉप रिसर्च पब्लिकेशन एल्जिवियर ने प्रकाशित किया है। एकेटीयू के मुताबिक शोध पत्र विश्व के प्रतिष्ठित एससीआई जर्नल एल्जिवियर के साइंस डायरेक्ट में प्रकाशित हुआ है, जो एक बहुत बड़ी उप‍लब्धि है।

फाईल फोटो -गुगल

एकेटीयू के प्रवक्‍ता आशीष मिश्र के मुताबिक कोविड-19 संक्रमण के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वैज्ञानिकों से संक्रमण की रोकथाम के लिए तकनीक का विकास करें। इसी क्रम में एकेटीयू व केजीएमयू ने मिल कर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कोविड संक्रामित मरीजों की स्‍क्रीनिंग के लिए तकनीक विकसित की थी। जो एक्स-रे इमेज के मदद से कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग करने में सक्षम है। इसका विश्लेषण 99.98 प्रतिशत शुद्धता के साथ कार्य करने में सक्षम पाया गया था।

यह तकनीक न केवल प्रदेश बल्कि देश-विदेश में अग्रणी अनुसन्धान के रूप में दृष्टिगोचर हो रही है। इस नई तकनीक का लोकापर्ण प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने किया था। जिसके बाद इस टूल को देश के कई मेडिकल संस्थानों में कोविड-19 रोगियों की स्क्रीनिंग हेतु उपयोग में लाया जा रहा है। इस तकनीक को शोध पत्र ‘ए डीप लर्निंग-बेस्ड कोविड-19 ऑटोमेटिक डायग्नोसिस फ्रेमवर्क यूसिंग चेस्ट एक्स-रे इमेजेज’ टाइटल से एल्जिवियर के साइंस डायरेक्ट जर्नल में प्रकाशित किया गया है। इस शोध पत्र के प्रकाशन में भारतीय वैज्ञानिकों के साथ विदेशी वैज्ञानिको द्वारा भी अहम भूमिका निभाई गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *