पूर्व मंत्री घुरा राम नहीं रहे, थे कोरोना पॉजिटिव

बलिया: पूर्व मंत्री घुरा राम का देर रात लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई। सूचना मिलते ही बलिया में शोक की लहर दौड़ गई। वे बसपा के दिग्गज नेता थे और संगठन के अनेक प्रमुख पदों पर रहने के साथ ही बसपा सरकार में मंत्री थे। फिलहाल वे सपा में थे और नई राजनीतिक पारी खेल रहे थे। सूचना मिलते ही बलिया के नेताओं में शोक की लहर दौड़ गई। बिल्थरारोड के पूर्व विधायक व सपा नेता गोरख पासवान, दर्जा प्राप्त पूर्व मंत्री छट्ठू राम, विनोद सेहरा, अरविंद गौतम आदि ने गहरा शोक व्यक्त किया। वे उत्तर प्रदेश की राजनीति में गहरा प्रभाव रखने वाले बलिया के रसड़ा विधानसभा से तीन बार विधायक थे। बसपा के उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री थे।
जिन्हें कुछ दिनों सीने में दर्द और जकड़न की शिकायत पर केजीएमसी मेडिकल कॉलेज लखनऊ में भर्ती कराया गया। जहां उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

घूरा राम के पुत्र सन्तोष कुमार ने बताया कि बृहस्पतिवार तड़के चार बजे उनके पिता का लखनऊ की किंगजार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में निधन हो गया । वह 63 वर्ष के थे । उन्होंने बताया कि घूरा राम को गत 14 जुलाई की देर रात्रि कफ व सांस लेने में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था । उन्होंने बताया कि बुधवार को उनकी मेडिकल जांच की रिपोर्ट आयी, जिसमें उनके कोविड-19 से पीड़ित होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि कल से कफ व रक्तचाप की परेशानी बढ़ी और उनकी हालत बिगड़ गई थी । बसपा संस्थापक कांशी राम के विश्वस्त सहयोगी रहे घूरा राम वर्ष 1993 , 2002 व 2007 में जिले की रसड़ा सुरक्षित सीट से विधायक रहे तथा मायावती सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री रहे । हाल ही में वह सपा में शामिल हो गए थे । सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने घूरा राम को दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया था ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button