बलिया में पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी को मिली जमानत

पाक्सो मामले में पांचों आरोपियों को मिली राहत

बलिया: बलियाः जनपद बलिया में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के दौरान दिग्गज नेताओं और समर्थकों के बीच हुए नारेबाजी कांड में बलिया न्यायालय से पूर्व मंत्री अंबिका चैधरी को जमानत मिल गई है। पूर्व मंत्री समेत पांच आरोपियों को पास्को एक्ट में बलिया न्यायालय से राहत मिली है। बलिया जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के परिणाम के बाद विजय जुलूस के दौरान खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी के स्वजनों को अपशब्द कहने के मामले में पांचों आरोपियों को कोर्ट से जमानत मिल गई। अन्य न्यायाधीश कोर्ट आठ शिवकुमार द्वितीय ने शुक्रवार को फैसला सुनाते हुए सभी आरोपियों को 50 हजार रूपए की भू-बंधपत्र दाखिल करने की शर्त पर जमानत दी है।


मंत्री उपेंद्र तिवारी के भतीजे के तहरीर पर हुआ था मुकदमा
आपको बता दें कि राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी के भतीजे अश्वनी तिवारी ने पुलिस अधीक्षक को तहरीर देकर स्वजनों को अपशब्द कहने का आरोप लगाया था। मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष आनंद चैधरी, पूर्व मंत्री अंबिका चैधरी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य अमित यादव समेत दस नामजद व सैकड़ों अज्ञात पर पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। मामले को लेकर जनपद में जमकर बवाल हुआ था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी राजेंद्र उर्फ राजू, विशाल यादव, शशिभूषण, राजेंद्र यादव व सूर्य प्रकाश वर्मा को गिरफ्तार किया था। आरोपियों से पूछताछ की गई थी। मामले की सुनवाई कोर्ट में चल रही थी। सभी आरोपियों ने कोर्ट में जमानत को लेकर याचिका दाखिल की थी। इसी मामले में अदालत ने जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए पांचों आरोपियों को 50 हजार रूपए की भू-बंधपत्र दाखिल करने पर जमानत पारित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *