पुलिस के डर से जिपं सदस्य के परिवार ने छोड़ा घर

बिल्थरारोड जिपं सदस्य ने पुलिस के आरोपों को बताया निराधार

बलिया: जनपद बलिया में उभांव पुलिस द्वारा कथित रुप से मुख्तार अंसारी गैंग से कनेक्शन होने का आरोप लगने के बाद चर्चा में आएं बिल्थरारोड निवासी वार्ड सं. 28 से निर्दल जिलापंचायत सदस्य और कांग्रेसी नेता जनार्दन यादव ने उभांव पुलिस पर परिजनों को अनावश्यक भयभीत करने का आरोप लगाया है।

पुलिस दबिश से भयभीत है परिवारः

फेसबुक पर ही पोस्टकर जनार्दन यादव ने अपना पक्ष रखा है। कहा कि पुलिस द्वारा परेशान करने और सत्तापक्ष के दबाव में राजनीतिक छवि खराब करने की नियत से उनके घर पर दबिश दिया जा रहा है। पुलिस के उत्पीड़न और कार्यशैली से पूरा परिवार भयभीत है और पुलिस के भय से आज परिवार एवं बच्चे घर छोड़ने को मजबूर हो गए। जिपं सदस्य जनार्दन यादव में पूरे पोस्ट में पुलिस के कार्रवाई को गलत और सत्तापक्ष के दबाव में किया गया कार्रवाई बताया है और जिलापंचायत अध्यक्ष के चुनाव में शासन के दबाव में वोट करने के लिए परेशान का करने का भी इशारा किया है।

फेसबुक पर पोस्ट कर लगाएं गंभीर आरोप

जनार्दन यादव ने पुलिस द्वारा मणिपुर नंबर के स्कार्पियों को नहर से बरामद किए जाने के दावे को भी गलत बताया और कहा कि इस गाड़ी को पुलिस ने गाड़ी मालिक गिरिजाशंकर तिवारी के घर के पास अखोप से ही ले गई है। अपना पक्ष रखते हुए कहा कि जिस गाड़ी को पुलिस संदिग्ध बता रही है, उसी गाड़ी से लगातार तीन महीने तक लाकडाउन में उनके द्वारा जरुरतमंदों तक राशन और राहत सामान पहुंचाया गया। जिससे लोगों का भला हुआ और इस गाड़ी का लाकडाउन में तत्कालीन एसडीएम द्वारा पास भी जारी किया गया था। जनार्दन यादव ने किसी के दबाव में अपने वोट का समझौता न करने का संकल्प दोहराया है।

सपा की चल रही घेराबंदी

बता दें कि मुख्तार अंसारी गैंग के साथ कनेक्शन का आरोप लगाकर ही पुलिस कई दिन तक जिपं सदस्य जनार्दन यादव के घर अखोप में दबिश दिया था। पूरे मामले के पीछे जिलापंचायत अध्यक्ष चुनाव को लेकर बलिया में सपा की चल रही घेराबंदी भी मुख्य कारण बताई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *