किसानों को मजदूर बना देगा 2020 का किसान बिल -मो रिजवी

बिल के लागू होने पर किसानों के अनाज पर भी देना होगा मंडी शुल्क

सिकंदरपुर (बलिया) विपक्ष और किसान संगठनों की बात न सुनकर किसानों के हित अनदेखी करते हुए।यह सरकार सिर्फ उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है।लोकसभा और राज्यसभा में बिना चर्चा और बिना मत विभाजन का कृषि बिल 2020 पास करा दिया गया।संसदीय परंपरा और लोकतंत्र की हत्या की गई।उक्त बातें सपा नेता पूर्व मंत्री जियाउद्दीन रिजवी ने जनसहयोग विकास सेवा संस्थान द्वारा डुंहा बिहरा में आयोजित गोष्टी को सम्बोधित करते हुए कहा । उन्होंने कहा कि यह सरकार एमएसपी और सरकारी मंडियों को बर्बाद करने का काम किया है। किसान मजबूर होकर अपनी जमीन उद्योगपतियों को देने पर मजबूर हो जाएंगे।और उन्हीं खेतों में बधुआ मजदूर की तरह किसान काम करने के लिए बाध्य हो जाएंगे। यह सरकार जहां सरकारी मंडियों में जीएसटी के रूप में टैक्स लेगी।वही प्राइवेट मंडियों को टैक्स से छूट दी गई है। झूठ बोलने में माहिर यह सरकार देश के साथ छल कर रही है की किसान अपना अनाज कहीं भी ले जा कर बेच सकते हैं।जबकि 1975 से ही किसानों को छूट दी गई है। की अपना अनाज देश के किसी भी कोने में ले जाकर बेच सकते हैं।सिर्फ व्यापारियों को को ही एक राज्य से दूसरे राज्य में अनाज में जाने पर पाबन्दी थी। वर्तमान सरकार मजदूरों को बर्बाद करने के बाद। नौजवानों के भविष्य के साथ धोखा किया ।अब किसानों को कहीं का नहीं छोड़ा। आगे आने वाले 5 सालों बाद देश में दो ही जमीदार अडानी और अंबानी रह जाएंगे। इसलिए किसानों, नौजवानों, मजदूरों,जागो और अपने हक की लड़ाई लड़ो।नहीं तो आगे आने वाली पीढ़ियां हमें माफ नहीं करेंगी। बैठक को रामजी यादव, भीष्म यादव,आनन्द मोहन सिंह , चन्द्रमा यादव,रवि मिश्रा, बिरबहादुर वर्मा, अश्वनी सिंह, रवि यादव, अजय कुमार वर्मा, अजय गुप्ता, चंदन पासवान, मनजीत मौर्य,बबलू सिंह, राजकुमार वर्मा, रमेश साहनी अध्यक्षता राणा सिंह व संचालन पूर्व ब्लाक प्रमुख विवेक सिंह ने किया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button