अभ्युदय कोचिंग में दाखिले के लिए परीक्षाएं आज से

ऑफ़लाइन पंजीकरण आधी रात से बंद,जारी रहेंगे ऑनलाइन

लख़नऊ : प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर शुरू मुख्यमंत्री अभ्युदय कोचिंग युवाओं में बेहद हिट रही। अब तक इसमें पढ़ने के लिए करीब तीन लाख प्रतियोगी क्षात्र-क्षत्राएं पंजीकरण करा चुकी हैं। शुक्रवार आधी रात से ऑफलाइन क्लासेज के लिए पंजीकरण बंद हो जाएगा। ऑनलाइन क्लासेज के लिए पंजीकरण जारी रहेगा। मिली जानकारी के अनुसार जिन प्रतियोगी क्षात्रों ने ऑफलाइन क्लास के लिए पंजीकरण कराया है 13 फरवरी को उनकी ऑनलाइन परीक्षाएं होगी। इस क्रम में एनडीए एवं सीडीएस की परीक्षा दिन 12 से 1 बजे तक, यूपीएससी/यूपीपीएससी की परीक्षा 1.30 से 2.30 बजे तक, जेईई की शाम 3 से 4 और एनईईटी के लिए 4.30 से 5.30 तक परीक्षा होगी। मालूम हो कि सरकार पहले ही 16 फरवरी ( बसंत पंचमी) से अभ्युदय कोचिंग के क्लासेज चलाने की घोषणा कर चुकी है।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ के क्रियान्वयन के लिए गठित राज्य स्तरीय समिति के सदस्य मंडलायुक्त लखनऊ, रंजन कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री के विशेष प्रयास वाली इस योजना को लेकर युवाओं में उत्साह स्वाभाविक था, लेकिन पोर्टल शुरू होने के बाद से अब तक जिस तेजी के साथ पंजीकरण हुए हैं, वह योजना की सफलता का सबूत है। की तस्वीर पेश करती है। उन्होंने बताया कि बुधवार को देर रात करीब 11 बजे अभ्युदय का पोर्टल http://abhyuday.up.gov.in/ लाइव हुआ। शुक्रवार शाम करीब साढ़े 6 बजे तक 19 लाख से अधिक बार वेबसाइट विजिट की गई। कुल अलग-अलग परीक्षाओं के लिए कुल करीब तीन अभ्यर्थियों का पंजीकरण पूर्ण हो चुका है।

वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों से मिलेगा सीधा मार्गदर्शन: सीएम योगी की इस अभिनव पहल को लेकर प्रदेश के वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों में भी खूब उत्साह है। अभ्युदय कक्षाओं में प्रतियोगी छात्रों से यह अधिकारी सीधा संवाद करेंगे। मुख्य सचिव आरके तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार और सुरेंद्र सिंह जैसे वरिष्ठ आईएसएस अधिकारी प्रतियोगी छात्रों से सीधे मुखातिब होंगे और छात्रों की जिज्ञासाओं का समाधान करेंगें। यही नहीं, ई-लर्निंग पोर्टल पर इन अधिकारियों के वीडियो लेक्चर और मोटिवेशनल वीडियो भी उपलब्ध होंगे।

गरीब परिवार के बच्चों के लिए बड़ा सम्बल है ‘अभ्युदय’:

सिविल सेवा, जेईई और नीट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता की चाह रखने वाले युवाओं के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खास ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ की शुरुआत की है। प्रदेश का कोई भी युवा जो सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, टीईटी जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा हो, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस खास पहल का लाभ ले सकता है। इस अभिनव कोचिंग में ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल और लेक्चर आदि तो उपलब्ध होंगे ही, ऑफलाइन क्लास में आईएएस और पीसीएस परीक्षा के लिए प्रशिक्षु आईएएस, आईपीएस, आईएफएस (वन सेवा), पीसीएस अधिकारियों द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा। जबकि एनडीए और सीडीएस की परीक्षा के लिए प्राचार्य, उत्तर प्रदेश सैनिक स्कूल द्वारा गाइडेंस मिलेगी। यह नहीं, नीट, जेईई, बैंक पीओ, एसएससी और टीईटी आदि परीक्षाओं के लिए भी कक्षाएँ चलेंगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कह चुके हैं कि ‘मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना’ प्रतियोगी छात्रों को निःशुल्क स्तरीय कोचिंग पाने का सुअवसर है। शुरुआती दौर में हर मंडल मुख्यालय में इसकी कक्षायें चलेंगी। बाद में जिला स्तर और इसका विस्तार होगा। पूरी तरह निःशुल्क इन कक्षाओं में ऑफलाइन और ऑनलाइन प्रशिक्षण तथा विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा पैटर्न आदि के संबंध में अभ्यर्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी। साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी (उपाम) द्वारा क्वेश्चन बैंक, प्रश्नोत्तरी आदि भी तैयार कर वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *