बलिया में वर्दी के रौब में दिवाना हुआ दीवान सस्पेंड

महिला संग घर में ग्रामिणों ने पकड़ बनाया था वीडियो, खाकी हुई शर्मसार

बलियाः बलिया के मनियर थाना में तैनात एक दीवान वर्दी की हनक दिखा रात के अंधेरे में रंगरेलियां मनाते पकड़ा गया तो ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। दूसरे के धर में अक्सर घुस रंगरलियां मनाने वाले दीवान का लोगों ने वीडियो भी बनाया और उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंचे थाना पुलिस ने किसी तरह दीवान साहब को लोगों ने गुस्से से बचाते हुए सुरक्षित साथ लेते गए। मामले को पुलिस ने पहले तो किसी तरह निपटाने की कोशिश की किंतु सूचना मिलते ही एसपी देवेंद्रनाथ ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आनन-फानन में बुधवार को थाना पर धमक गए। इस दौरान एसपी साहब के आगमन के कारण को काफी गोपनीय रखा गया किंतु बाद में उक्त मामले के वीडियो बनने एवं लोगों के विरोध की गंभीरता की जानकारी होने पर एसपी ने तत्काल उक्त आरोपी दीवान को सस्पेंड कर दिया। एसपी के कार्रवाई होते ही उक्त मामले की चर्चा जंगल में आग की तरह फैल गई। उक्त कार्रवाई की पुष्टि थानाध्यक्ष नागेश उपाध्याय ने भी की। बता दें कि मनियर थाने के दिवाने दीवान क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार की रात रंगरेलियां मनाने के लिए एक महिला के घर में घुस गया। उक्त महिला का पति बाहर नौकरी करता है। इसकी भनक मिलते ही महिला की जेठानी ने अपने पति को सूचना दी। जो गांव के अन्य युवकों के साथ उक्त महिला के घर को बाहर से बंद कर दिया और चारों तरफ से घेर दीवान के करतूतों की जानकारी उच्चाधिकारियों को दे दी। बाहर से ग्रामीण युवाओं से घिरे होने की जानकारी मिलते ही दिवाने दीवान के होश उड़ गए। उसने घर के छत पर पहुंचकर लोगों से माफी मांगा और नौकरी जाने व बदनामी दुहाई दे छोड़ने की मिन्नते करने लगा किंतु युवाओं ने इसकी सूचना मनियर पुलिस को दी। इधर कुछ ग्रामीणों का आरोप है कि दीवान छत से वर्दी का रौब दिखा फर्जी मुकदमें में फंसाने व सभी को देख लेने की धमकी दे रहा था और ग्रामीणों को जमकर गाली भी दिया। इस बीचमनियर थाने का एक एसआई, अन्य सिपाहियों व डायल 112 की पीआरवी टीम के साथ पहुंच गया। एसआई ने ग्रामीणों को कार्रवाई का भरोसा देकर दीवान को सकुशल थाने ले गया। पूरे मामले की लोगों ने वीडियो व फोटो भी बनाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button