अखिलेश की सीट पर कमल खिलाने फिर बाइ इलेक्शन में होंगे दिनेश लाल निरहू !

आजमगढ़ लोकसभा सीट को लेकर दिनेश लाल निरहू संग पार्टी वरिष्ठजनों की हुई चर्चा

बलियाः विधानसभा चुनाव में जीत के बाद अखिलेश यादव अब यूपी विधानसभा के प्रतिपक्ष नेता होंगे। इसके लिए उन्होंने आजमगढ़ लोकसभा सदस्य के पद से इस्तिफा दे दिया है। जिसके बाद आजमगढ़ लोकसभा सीट पर जल्द ही उपचुनाव होना तय है। यूपी में दूसरी बार सीएम पद का शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ की निगाहें अब सपा के खाते से आजमगढ़ सीट को हथियाने पर होगी। इसे लेकर भाजपा ने घेराबंदी शुरु कर दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ आजमगढ़ लोकसभा सीट पर कमल खिलाने की जिम्मेदारी एकबार फिर भोजपुरी अभिनेता और भाजपा नेता दिनेश लाल निरहू के जिम्मे दे सकते है।

हालांकि इसकी अभी अधिकारिक घोषणा नहीं हुई है किंतु सीएम द्वारा दिनेश लाल निरहू के साथ शनिवार को विशेष रुप से मुलाकात हुई और भाजपा के वरिष्ठजनों के साथ दिनेश लाल निरहू संग आजमगढ़ सीट पर लंबी चर्चा की गई। जिसे लेकर राजनीतिक विशेषज्ञ अब आजमगढ़ सीट पर एक बार फिर भाजपा की तरफ से दिनेशलाल निरहू की दावेदारी पक्की मान रहे है। जो 2019 की कसक उपचुनाव में निकालना जरुर चाहेंगे। सीएम संग निरहू के मुलाकात के दौरान बलिया जनपद के सीयर ब्लाक प्रमुख और दिनेश लाल निरहू के राजनीतिक गुरु कहे जाने वाले आलोक सिंह भी मौजूद रहे।

आलोक सिंह ने उपचुनाव में दिनेश लाल निरहू का इस बार जीत पक्का होने का दावा करते हुए कहा कि अखिलेश यादव के इस सीट छोड़ने के साथ ही यहां अब कमल खिलने से कोई नहीं रोक सकता। पूरा देश मोदी और योगीमय हो गया है। दावा किया कि 2024 के लोकसभा चुनाव में फिर से प्रचंड बहुमत के साथ केंद्र में भाजपा की सरकार बनेगी और इससे पहले उपचुनाव में भाजपा की जीत पक्की है। आलोक सिंह ने कहा कि योगी जी के दोबारा सीएम बनने के बाद अब दोगुने रफ्तार से विकास कार्य होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *