बलिया में लॉकडॉउन से तंगी की भेंट चढ़े कान्वेंट स्कूल प्रबंधक

स्कूल में ही लगा ली फांसी

बलिया: मुखराम सिंह पब्लिक स्कूल सोवन्था के प्रबंधक कमलेश सिंह (45) ने अपने स्कूल में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिनका शव सोमवार को स्कूल के कमरे में लटकता हुआ मिला। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। घटना का कारण लॉकडाउन से बंद चल रहे स्कूलों में आर्थिक तंगी और परिवारिक कलह मुख्य बताया जा रहा है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को परिजनों को सौंप दिया। नरही थाना क्षेत्र के सोवन्था गांव निवासी कमलेश सिंह गांव के सामने एनएच 31 के पास मुखराम सिंह पब्लिक स्कूल नाम से विद्यालय चला रहे थे। कोरोना महामारी में लाॅकडाउन के कारण विद्यालय बंद हो गया, जिससे आर्थिक स्थिति अत्यंत ही दयनीय हो गई। जिससे कमलेश सिंह पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान थे। इधर उन्होंने लाखों रुपए कर्ज भी ले लिए थे। रविवार की रात पत्नी कंचन से किसी बात को लेकर कहासुनी हुई, फिर वह घर से निकल पड़े। सोमवार की सुबह 7 बजे परिवार के लोगों ने खोजबीन किया तो विद्यालय के कमरे में रस्सी से लटकता हुआ शव पाया गया। शव को घर ले जाने के बाद सूचना पाकर घर पहुंची पुलिस ने पंचनामा बनाया। इसके बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया जा रहा है प्रबंधक कमलेश सिंह विद्यालय चलाने के लिए लाखों रुपए कर्ज ले चुके हैं। ऊपर से मार्च महीने से ही विद्यालय बंद होने के कारण काफी तनाव में रह रहे थे। जिसका परिणाम यह हुआ कि रविवार की रात को उन्होंने अपनी इह लीला समाप्त कर ली। कमलेश सिंह की पत्नी कंचन सिंह प्राथमिक विद्यालय बिलरिया में शिक्षामित्र के पद पर तैनात हैं। उनकी एक पुत्री आस्था 12 वर्ष तथा 1 पुत्र आदित्य सिंह 10 वर्ष का रोते-रोते बुरा हाल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button