डीआरडीओ द्वारा निर्मित दवा में सीएम सिटी के वैज्ञानिक डॉ अनंत भट्ट की भी अहम भूमिका

  • गिरीश पांडेय

लखनऊ : रक्षा अनुसंधान विकास अनुसंधान संगठन (डीआरडीओ ) द्वारा निर्मित कोरोना संक्रमण की देशी और पूरी तरह कारगर दवा (2 डीजी) बनाने वाली वैज्ञानिकों की टीम के डॉक्टर अनंत नारायण भट्ट मुख्यमंत्री के ही शहर गोरखपुर के हैं। उनको इस बात का गर्व भी है। डॉक्टर अनंत के मुताबिक दवा 2 डीजी ट्रायल में कोरोना संक्रमण से शत प्रतिशत निजात दिलाने में कारगर रही है। सोमवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस दवा को लॉन्च भी कर दिया।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अधिकारियों को दवा का ऑर्डर देने का निर्देश दे चुके हैं। शीघ्र ही यह प्रदेश में भी उपलब्ध होगी। करीब हफ्ते भर पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद हैदराबाद की डॉ रेड्डीज लैब ने इसका उत्पादन शुरू कर दिया है।

पहले वेव से ही शुरू हो गई थी दवा बनाने की तैयारी

डॉ भट्ट का कहना है कि यह दवा आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना पर आधारित है। उनके मुताबिक कोविड के पहले वेव में ही डीआरडीओ ने दवा बनाने की ठान ली थी। इसके लिए एक टीम को हैदराबाद की डॉ रेड्डीज लैब में रिसर्च के लिए लगाया गया। दिल्ली में कार्यरत डॉ भट्ट को भी हैदराबाद भेजा गया। दिनरात एक कर रिसर्च टीम को आखिरकार कामयाबी मिल ही गई।

ट्रायल में 3 से 12 दिन में ठीक हो गए संक्रमित,तीन दिन में खत्म हो गया ऑक्सीजन सपोर्ट

इस दवा के बाबत डॉ भट्ट का कहना है कि जिन मरीजों पर इसका प्रयोग किया गया उन्हें तीन दिन बाद ही अलग से ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखने की जरूरत नहीं पड़ी। 42 प्रतिशत मरीज तीन दिन में और 75 से 80 प्रतिशत तक मरीज सात से आठ दिन में ही कोरोना संक्रमण से ठीक हो गए। 11 से 12 दिन में रिकवरी की दर शत प्रतिशत रही। पूरी तरह अपने ही देश में निर्मित यह दवा सैशे में पावडर के रूप में है।

सीएम योगी के जिले का होना गर्व की बात : डॉ भट्ट

पूरी तरह देश में निर्मित कोविड मेडिसिन टू-डी जी को विकसित करने वाली टीम के अहम सदस्य डीआरडीओ के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ अनंत नारायण भट्ट गोरखपुर के गगहा इलाके के कौवाडील के रहने वाले हैं। उनका कहना है कि उन्हें इस बात पर गर्व की अनुभूति होती है कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले के रहने वाले हैं। बकौल डॉ भट्ट, आज गोरखपुर योगी जी के नाते पूरे विश्व मे जाना जाता है। पूरा देश उनकी कर्मठता और ईमानदारी का कायल है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी कई बार तारीफ कर चुके हैं। डॉ भट्ट कहते हैं कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य होने के बावजूद उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेहतरीन और तारीफ के काबिल कोविड प्रबंधन किया है। यही वजह है कि उनके कोविड प्रबंधन की तारीफ डब्लूएचओ, नीति आयोग व अन्य प्लेटफॉर्म पर हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *