बलिया – राजकीय मेडिकल कॉलेज के लिए भूमि का चयन शीघ्र करें -मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री जी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आजमगढ़ मंडल के विकास कार्यों की जनपदवार विस्तृत समीक्षा की , कोरोना से जंग के बीच जारी रहेगी विकास यात्रा . मनरेगा के माध्यम से तालाबों का पुनरुद्धार करें . सम्पूर्ण समाधान दिवस के उद्देश्य को फलित करें अधिकारी: मुख्यमंत्री

लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जब तक कोविड-19 की कोई वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक बचाव और जागरूकता का क्रम जारी रखना होगा। कोरोना की इस जंग के साथ प्रदेश की विकास यात्रा सतत जारी रहेगी। धन के अभाव में कोई काम नहीं रुकेगा। स्थानीय स्तर से विकास के नवीन प्रस्ताव भेजें, जो कार्य चल रहे हैं उनकी गुणवत्ता और समयबद्धता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

मुख्यमंत्री शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आजमगढ़ मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मंडलायुक्त के साथ-साथ जनपद आजमगढ़, बलिया और मऊ के जिलाधिकारियों से जनपद में प्रस्तावित और जारी विभिन्न योजनाओं की प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे और गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे की अद्यतन स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह परियोजना पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास को रफ्तार देने वाली है। इससे जुड़े हुए कोई भी प्रकरण लंबित न रखा जाए। मुख्यमंत्री ने विभागाध्यक्षों को निर्देशित किया कि कार्यदायी संस्था के चयन से पूर्व संस्था के संसाधनों की परख जरूर की जाए। उन्होंने मनरेगा के माध्यम से तालाबों के पुनरुद्धार के प्रयास करने के लिए भी कहा। मुख्यमंत्री ने जनपद बलिया में प्रस्तावित राजकीय मेडिकल कॉलेज भूमि चयन की प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

वरासत में न हो आम जन को समस्या

मुख्यमंत्री  ने वरासत सम्बंधी प्रकरणों को कतई लंबित न रखे जाने का निर्देश देते हुए कहा कि जिलाधिकारी गण यह सुनिश्चित करें कि तय समय सीमा में उत्तराधिकारी को लाभ प्राप्त हो जाए। जनपद बलिया में जल जमाव की समस्या के निस्तारण की जरूरत पर बल देते हुए मुख्यमंत्री ने इस संबंध में सर्वे कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। थाना दिवस और सम्पूर्ण समाधान दिवस के आयोजनों को जनोपयोगी बनाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री  ने कहा कि भ्रष्टाचार, अवैध कब्जे आदि की शिकायतों का त्वरित निस्तारण किया जाए। जहां विवाद की संभावना हो, वहां निरोधात्मक कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री  ने कहा कि आजमगढ़ मंडल से संबंधित शासन स्तर पर लम्बित प्रकरणों पर शीघ्र निर्णय लेकर निस्तारण हो। मुख्यमंत्री जी ने मंडल के सभी जनपदों में अमृत योजना के कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूरा किए जाने के निर्देश दिए। कोविड में संक्रमण प्रसार को नियंत्रित रखने में सफलता पर मुख्यमंत्री ने बलिया की सराहना की। मुख्यमंत्री ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फूलपुर, राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, आजमगढ़ में निर्माणाधीन भवनों का कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। बलिया में ग्राम चांदपुर के सामने घाघरा नदी पर सेतु, पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य के संबंध में आवश्यक भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही शीघ्र करने हेतु निर्देशित करने के अलावा उन्होंने आजमगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत एफोर्डेबल आवास की परियोजना, राज्य विश्वविद्यालय, आजमगढ़ और हवाई पट्टी निर्माण कार्य को प्राथमिकता के साथ तत्परतापूर्वक पूर्ण करने के निर्देश दिए।

जनप्रतिनिधियों से समन्वय रखें अधिकारी

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाई गई समस्याओं का समुचित निस्तारण करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। सांसद नीरज शेखर ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व.चंद्रशेखर के नाम पर स्टेडियम स्थापित करने पर मुख्यमंत्री का अभिवादन किया। बलिया से विधायक सुरेंद्र सिंह ने इस वर्ष बाढ़ प्रबंधन की बेहतरीन व्यवस्था के लिए जनता की ओर से मुख्यमंत्री का आभार ज्ञापन किया। मंडल के अनेक जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री द्वारा विकास कार्यों की निरन्तर की जा रही माॅनीटरिंग की सराहना करते हुए आवश्यकतानुसार नवीन परियोजनाओं की मांग भी रखी। मुख्यमंत्री  ने जनपदों के प्रभारी मंत्रीगणों को जनपद की मासिक समीक्षा करने के निर्देश भी दिए। आज की समीक्षा बैठक में संबंधित जिलों के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान , उपेंद्र तिवारी  और आनंद स्वरुप शुक्ला की विशिष्ट मौजूदगी भी रही।

मऊ में हो योग्य और कर्मठ अधिकारियों की तैनाती

मुख्यमंत्री ने मऊ जनपद की बदहाल सड़कों का जिक्र करते हुए कहा कि लंबे समय तक यहां गड़बड़ी चलती रही है। अब ऐसा नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने अपर मुख्य सचिव, पीडब्ल्यूडी को योग्य और कर्मठ अधिकारियों को मऊ में तैनात करने के निर्देश दिए।

पहली बार संन्यासी बना राजा, जैविक खेती को दें बढ़ावा

समीक्षा बैठक में सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने मुख्यमंत्री के पद पर एक संन्यासी के आरूढ़ होने को ऐतिहासिक बताते हुए प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा देने की मांग रखी। साथ ही, कोरोना काल में योगी सरकार द्वारा किए गए जनहित के प्रयासों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button