बिल्थरारोड तहसीलदार का एक और भाजपा मंडल अध्यक्ष संग हुआ विवाद, बकझक का विडियो हुआ वायरल

बलियाः बलिया के उलटबासी में बेफिट बिल्थरारोड तहसीलदार अपने विवादित कार्यशैली के कारण एक बार फिर चर्चा में है। इस बार उनका विवाद मालीपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष के साथ हुआ है। मालीपुर के गौवापार के मूल निवासी भाजपा मंडल अध्यक्ष शशि प्रकाश चैरसिया के पैतृक आवास की बाउंड्री की कथित विवाद की जांच को मौके पर बिना किसी पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे तहसीलदार जितेंद्र कुमार सिंह के रवैये से विपक्षी को लाभ पहुंचाने की नियत से एकतरफा कार्रवाई करने एवं प्रशासनिक धौंस देने का आरोप लगा है। इसे लेकर तहसीलदार एवं भाजपा नेता के परिजनों के बीच जमकर बकझक हुआ। जिससे तनाव उत्पन्न हो गया। करीब 20 मिनट तक हुए विवाद के बाद तहसीलदार को उल्टे पांव लौटना पड़ा। क्षेत्र के नगरा थाना अंतर्गत मालीपुर गौवापार निवासी मंडल अध्यक्ष शशिप्रकाश चैरसिया के घर के दक्षिण हिस्से की नवनिर्मित बाउंड्री के विवाद संबंधित जांच को तहसीलदार जितेंद्र कुमार सिंह अपने होमगार्ड की टीम के साथ पहुंचे थे। जहां मंडल अध्यक्ष को गलत निर्माण के लिए हड़काते हुए तहसीलदार ने ज्यों ही विवादित दीवार की जानकारी लेनी चाही। तनाव बढ़ गया। मंडल अध्यक्ष ने बताया कि उनके पुस्तैनी घर के दक्षिण हिस्से की कच्ची मिट्टी की दीवार की बाउंड्री बारिश में गिर गई थी। जिसे वे कुछ दिनों पूर्व ही निर्माण कराएं थे। आरोप लगाया कि उनके विपक्षी से मिलकर तहसीलदार जितेंद्र कुमार सिंह अपने होमगार्ड के डंडे के भय से दीवार स्वयं गिराने लगे और उनकी विधवा चाची पार्वती देवी व दादी चंद्रावती देवी से बदसलुकी भी की। आरोप लगाया कि तहसीलदार ने उनके घर के चारदीवारी की करीब दस ईंट गिरा भी दिया। जिसका विरोध करने पर तहसीलदार भाजपा के मंडल अध्यक्ष श्री चैरसिया से भी भीड़ गए। जिसके बाद मौजूद सभी परिजन उग्र हो गए। इस दौरान हुए बकझक का विडियो भी लोगों ने बनाकर वायरल कर दिया। जिसमें बिगड़े माहौल के बीच तहसीलदार व होमगार्ड विवश बने हुए थे। तहसीलदार के रवैये से उग्र परिजन लगातार तहसीलदार से पूछ रहे थे कि वे किस अधिकार से जबरन दीवार गिराने की कोशिश कर रहे थे। हंगामा व विरोध के बाद मौके से अधिकारियों ने किसी तरह निकलने में ही अपनी भलाई समझी। मालूम हो कि तहसीलदार जितेंद्र सिंह का इससे पूर्व लाकडाउन के दौरान ही भाजपा के बेल्थराबाजार मंडल अध्यक्ष सतीश गुप्ता के साथ भी विवाद हो चुका है। वहीं लाकडाउन में तहसीलदार के सख्ती का पुलिस, अधिवक्ता व क्षेत्रवासी भी कोपभाजन हो चुके है। जिसके कारण तहसीलदार का रवैया अक्सर चर्चा में रहा है।

तहसीलदार ने आरोप को बताया गलत, कहा मंडल अध्यक्ष ने दिखाई दबंगई

तहसीलदार जितेंद्र सिंह ने भाजपा मंडल अध्यक्ष संग हुए विवाद में लगे आरोप को निराधार व मनगढंत बताते हुए कहा कि डीएम के आदेश पर वे विवादित भूमि के निर्माण संबंधित मामले की जांच को मालीपुर पहुंचे थे किंतु वहां मौजूद शशि प्रकाश चैरसिया ने स्वयं को भाजपा मंडल अध्यक्ष बताते हुए जमकर दबंगई दिखाई और उनके गाड़़ी को घेर लिया। अपने लोगों के मदद से उनकी गाड़़ी को आने ही नहीं दे रहा था। जिसे लेकर विवाद हुआ। इस दौरान नेटवर्क प्राब्लम के कारण स्थानीय पुलिस प्रशासन व उच्चाधिकारियों से भी वार्ता नहीं हो सकी। जिसके कारण वे कार्रवाई नहीं कर सके और वे किसी तरह वहां से सुरक्षित लौट सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button