बलिया में एडीएम का भी आदेश नहीं मानते बिल्थरारोड तहसीलदार

आदेश के बावजूद गोंड समाज को नहीं मिल रहा जाति प्रमाणपत्र

बलियाः बलिया एडीएम रामआसरे के स्पष्ट निर्देश को बिल्थरारोड तहसीलदार नहीं मानते है और गोंड समाज को अनुसूचित जनजाति का जाति प्रमाणपत्र जारी नहीं करते। जिससे अब तक दर्जनों आवेदन लंबित है। उक्त बातें गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष लल्लन प्रसाद गोंड ने कही। आगे कहा कि शासन के नए शासनादेश के क्रियान्वयन हेतु बलिया एडीएम द्वारा जनपद के सभी तहसीलदार को गोंड व खरवार समाज के लिए अनुसूचित जन जाति का जाति प्रमाण जारी करने संबंधित स्पष्ट निर्देश जारी कर दिया गया है। बावजूद बिल्थरारोड के तहसीलदार की लालफिताशाही के कारण यहां गोंड समाज का अनुसूचित जनजाति का जाति प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जा रहा है। जिससे पूरा समाज अपनी पहचान को लेकर विभाग का चक्कर लगा रहा है। जिसके लिए अब संघर्ष करना ही एक मात्र विकल्प रह गया है। चैकिया मोड़ स्थित एक भवन पर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के पदाधिकारियों की बैठक में क्षेत्रीय पदाधिकारियों में ऊर्जा भरते हुए लल्लन गोंड ने कहा कि बिना संघर्ष उन्हें न्याय नहीं मिलने वाला। जिसके लिए हर किसी को तैयार रहना होगा। बैठक को आल गोंडवाना स्टूडेंटस एसोसिएशन के जिला संयोजक रंजीत कुमार गोंड ने भी एडीएम बलिया राम आसरे द्वारा समस्त तहसीलदार को लिखे गए पत्र का हवाला देते हुए बिल्थरारोड तहसीलदार की मनमानी के खिलाफ नाराजगी जताई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button