बलिया का दागी सिपाही गो तस्करों संग देवरिया में हुआ गिरफ्तार

सादे वर्दी में स्कार्पियों से गो तस्करों की कर रहा था पायलेटिंग, 53 गोवंशीय मवेशी भी बरामद

बलियाः जनपद बलिया के उभांव थाना क्षेत्र में अवैध वसूली के आरोप में लाइन हाजीर चल रहा बलिया जनपद का दागी सिपाही दीप नारायण पासवान सोमवार को देवरिया पुलिस के हत्थे चढ़ गया। देवरिया जनपद के भागलपुर पुल के पास गो तस्करों के साथ मईल थाना पुलिस ने सोमवार की सुबह पकड़ा लिया। जिसे दोपहर बाद देवरिया पुलिस ने तस्करों संग सांठ गांठ के आरोप में संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तारकर न्यायालय के सुपुर्द कर दिया। उक्त गिरफ्तारी से बलिया पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा रहा। उक्त दागी सिपाही को संरक्षण देने वाले बलिया पुलिस विभाग के उसके आकाओ के भी कान खड़े हो गए है। जो लंबे समय से गो तस्करी में साथ देने के लिए बदनाम था किंतु खाकी वर्दी के रौब और विभागीय संरक्षण के कारण अब तक बचता रहा था।

गिरफ्तारी के समय दागी सिपाही सादे वर्दी में था और दो अन्य पशु तस्करों के साथ एक स्कार्पियो गाड़ी में सवार था। जो बलिया जनपद से उभांव थाना के रास्ते दो ट्रक में कुल 53 गोवंशीय मवेशी को तस्करी के लिए देवरिया के रास्ते बिहार भेजने में मदद कर रहा था। उभांव थाना में वसूली के आरोप के कारण ही फिलहाल वह बलिया में लाइन हाजीर था। जो सोमवार को उभांव थाना के रास्ते दो ट्रक गोवंशीय पशु को आगे ले जाने के लिए स्कार्पियों से पायलेटिंग कर रहा था। जिसे तस्करों के साथ मईल थाना पुलिस ने पहले रोका किंतु वे भागलपुर पुल पर पुलिस को चकमा देकर निकल गए। पुलिस ने पीछा किया और कुछ दूर स्कार्पियों को पकड़ लिया। सादे वर्दी में सिपाही ने यहां भी रौब दिखाया किंतु मईल पुलिस ने तस्करों की जब खबर ली तो उनके निशानदेही पर पीछे से आ रहे दो अन्य ट्रक पर सवार कुल 53 गोवंशीय मवेशी भी बरामद कर लिए गए। बरामद एक ट्रक पर ठूस कर लादे गए करीब 24 एवं दूसरे ट्रक पर 29 गोवंशीय मवेशी बरामद किए। इनमें अधिकांश गोवंशीय मवेशी की हालत मरणासन जैसी रही। मईल थाना इंचार्ज शैलेश कुमार ने उक्त दागी सिपाही संग करीब 8 गो तस्कर को भी गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button