बलिया संपूर्ण समाधान दिवस में नहीं पहुंचे डीएम-एसपी

167 में 18 मामले निपटाएं

बलिया: कोरोनाकाल के बाद बिल्थरारोड तहसील पर आयोजित पहले संपूर्ण समाधान दिवस पर मंगलवार को डीएम श्रीहरिप्रताप शाही व एसपी देवेंद्रनाथ नहीं पहुंचे। फरियादी और अधिकारी उक्त अधिकारी द्वय का इंतजार करते रहे और फरियादी डीएम के इंतजार में तहसील के बाहर ही मंडराते रहे। बाद में सभी ने बारी-बारी अपना शिकायतीपत्र एसडीएम संतलाल को सौंपा। इस दौरान राजस्व व पुलिस प्रशासन के खिलाफ ही ज्यादा मामले पहुंचे। एसडीएम संतलाल ने कुल 167 शिकायती पत्रों मं 18 का तत्काल निस्तारण कर दिया। वहीं गांव में मनमानी करने के आरोप में बड़ी संख्या में ग्रामिणों ने प्रधान सिकंदरापुर व सचिव के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और राशन दुकान आवंटन में मनमानी व गड़बड़ी किए जाने के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

मुहम्मदपुर रामपुर निवासी वीरेंद्र यादव रामपुरी ने गांव में जनहित में पंचायत भवन बनवाने की मांग की। सरयांडीहूभगत गांव निवासी प्रमोद कुमार मौर्य ने गांव में पिछले चार वर्ष से चिकित्सक के बगैर चल रहे राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय में चिकित्सकों की तैनाती किए जाने की मांग की। भाजपा आईटी सेल नेता पंकज गुप्ता मोदी ने विद्युत विभाग के एसडीओ पर सुविधा शुल्क मांगने व धमकी दिए जाने के मामले में अब तक मुकदमा दर्ज न होने पर नाराजगी जताते हुए कार्रवाई की मांग की। ग्राम बहुताचक उपाध्याय निवासी संजय ने भूअभिलेख में औषधालय के नाम से दर्ज भूमि पर किए जा रहे अवैध कब्जा हटाने की मांग की। कहा कि राजस्व अधिकारी इसे टीकाकरण उपकेंद्र बताकर गांव के दबंगों द्वारा अवैध कब्जा करा रहे है। एसडीएम ने सभी मामलों में जांचटीम गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए है। समाधान दिवस पर तहसीलदार जितेंद्र सिंह, ईओ ब्रजेश गुप्ता, उभांव इंस्पेक्टर योगेंद्र बहादुर सिंह, भीमपुरा इंस्पेक्टर शिवमिलन समेत बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button