अतुल्य होगी प्रभु श्रीराम की अयोध्या

अयोध्या में जल्द अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट । रेलवे लाइन के दोहरीकरण के साथ स्टेशन का सुंदरीकरण और विस्तारीकरण भी । सोहावल से विक्रमजोत तक बनेगा चार लेन का बाई पास । 

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या को वैश्विक स्तर पर नई पहचान दिलाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। प्रदेश में सरकार बनने के बाद से ही उन्होंने अयोध्या में दीपोत्सव और राम लीला मंचन से लेकर कई ऐसे आयोजन कराए, जिन्होंने वैश्विक स्तर पर अयोध्या को नई पहचान दी। फिलहाल, जो भी काम अयोध्या में कराए जा रहे हैं, वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सपने को अमलीजामा पहना रहे हैं। जल्द ही अयोध्या वैश्विक पर्यटन के नक्शे पर अतुल्य होगी अयोध्या। देश दुनिया से वहां अपने आराध्य के दर्शन करने वालों पर अमिट छाप छोड़ने के लिए भगवान श्रीराम के भव्यतम और दिव्यतम मंदिर, प्रभु श्री राम की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा, वैदिक और आधुनिक सिटी के समन्वित मॉडल के रूप में नव्य अयोध्या के अलावा और भी बहुत कुछ होगा। कुछ काम हो रहे हैं और कई पाइपलाइन में हैं।

प्रदेश और केंद्र सरकार ने खजाना खोला

अयोध्या की विकास परियोजनाओं के लिए प्रदेश और केंद्र सरकार ने खजाना खोल दिया है। मसलन, अयोध्या आने वाली रेलवे लाइन का दोहरीकरण के साथ भविष्य की जरूरतों के अनुसार रेलवे स्टेशन का सुंदरीकरण और विस्तारीकरण होना है। अयोध्या से सुल्तानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 330 से एयरपोर्ट तक 18.75 करोड़ रुपये की लागत से चार लेन की सड़क का नवनिर्माण होना है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण अयोध्या धाम से बाईपास के लिए सोहावल से विक्रमजोत तक का प्रस्ताव बना रहा है। करीब 1500 करोड़ रुपये की लागत से रायबरेली से अयोध्या तक चार लेन की सड़क के चौड़ीकरण का कार्य भी होना है। पिछले दिनों पर्यटन विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अयोध्या को पर्यटन के लिहाज से वैश्विक सिटी बनाने के लिए उसी के अनुरूप कंसलटेंट का चयन करें। सरयू की अविरलता और निर्मलता बरकरार रखने के लिए वहां आधुनिकतम सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाएं।

सैकड़ों करोड़ की लागत से चल रहे कार्य

अयोध्या में करीब 242 लाख रुपये की लागत से दशरथ महल, सत्संग भवन, यात्री सहायता केंद्र और रैनबसेरा का निर्माण कार्य चल रहा है। 524 लाख रुपये की लगात से ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, 197 लाख रुपये की लागत से पंचकोशी परिक्रमा मार्ग पर छाजन, दिगंबर अखाड़ा में 288 लाख रुपये की लागत से मल्टीपरपज हाल का निर्माण होना है। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत सीवरेज और पेयजल के लिए होने वाले काम अलग से हैं।

अयोध्या में चल रही महत्वपूर्ण परियोजनाएं और उनकी लागत

परियोजनाएं लागत
भजन संध्या स्थल 1902
क्वीन हो मेमोरियल पार्क 2192
रामकथा पार्क का विस्तारीकरण 275.35
रामकथा गैलरी 759
आधुनिक बस स्टैंड 740
मल्टी लेवल पार्किंग 1644
रामकी पैड़ी का सुंदरीकरण 1265
सिटीवाइड इंटरवेंसन के कार्य 1463
सड़क और फुटपाथों का नवीनीकरण 840
हनुमानगढ़ी-कनक भवन मार्ग का नवीनीकरण 1180
लक्ष्मण किला घाट का विकास 973
गुफ्तार घाट का सुंदरीकरण 3564
राम की पैड़ी पर पंप हाउस 2481.10
पार्ट बी 5604
अंतरराष्ट्रीय रामलीला केंद्र 347.86
सांस्कृतिक आडीटोरियम 489
(नोट-सभी आंकड़े लाख रुपए में हैं)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button