चिकित्‍सा शिक्षा-प्रदेश में निर्माणाधीन नए मेडिकल कॉलेजों के लिए बजट में 1,950 करोड़ का किया गया प्रावधान

बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के लिए प्रतिबद्ध है योगी सरकार, मिली हेल्‍थ सेक्‍टर को सौगात ,लखनऊ में बायो सेफ्टी लेवल-4 लैब की होगी स्थापना ,अमेठी व बलरामपुर में बनेंगें नए मेडिकल कॉलेज ,राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के लिए 23 करोड़ रुपए की राशि की गई आवंटित

लखनऊ । मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्‍व में प्रदेश सरकार ने स्‍वास्‍थ सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पांचवें बजट में कई गुना बढ़ोत्‍तरी की है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बजट 2021-2022 के बजट में यूपी के कई जनपदों में निर्माणाधीन नए मेडिकल कॉलेजों के लिए 1950 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया है। जिसके तहत प्रदेश के 13 जनपदों बिजनौर, कुशीनगर, सुल्तानपुर, गोंडा, ललितपुर, लखीमपुर-खीरी,चन्दौली, बुलन्दशहर, सोनभद्र, पीलीभीत, औरैया, कानपुर देहात व कौशाम्बी में निर्माणाधीन नए मेडिकल कॉलेजों के लिए राशि को बजट में प्रस्तावित किया गया।

प्रदेश के 16 असेवित जनपदों में पीपीपी मोड में मेडिकल कॉलेज संचालित कराए जाने के लिए 48 करोड़ और राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के लिए 23 करोड़ रुपए की राशि की व्‍यवस्‍था बजट में की गई है। एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, गाजीपुर व मीरजापुर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों में जुलाई 2021 से शिक्षण सत्र शुरू करने के लिए 960 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया गया है।

अमेठी व बलरामपुर में बनेंगें नए मेडिकल कॉलेज

अमेठी व बलरामपुर में नए मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए 175 करोड़ रुपए की राशि की व्यवस्था बजट में की गई है। इसके साथ ही लखनऊ में अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 100 करोड़ रुपए की राशि की व्‍यवस्‍था बजट में की गई है।

लखनऊ में बायो सेफ्टी लेवल-4 लैब की होगी स्थापना

लखनऊ में इंस्टीटयूट ऑफ वायरोलॉजी एंड इन्फेक्शस डिजीजेज के तहत बायो सेफ्टी लेवल-4 लैब की स्थापना के साथ ही लखनऊ के एसजीपीजीआई में उन्नत मधुमेह केन्द्र की स्थापना कराए जाने की घोषणा की गई। असाध्य रोगों की चिकित्सा सुविधा मुहैया कराए जाने के लिए 100 करोड़ रुपए की राशि की व्यवस्था बजट में की गई। आयुर्वेदिक व यूनानी चिकित्सालयों में प्रमाणित एवं गुणकारी औषधियों की आपूर्ति की व्यवस्था के लिए प्रदेश में दो राजकीय औषधि निर्माणशालाएं लखनऊ व पीलीभीत को सुदृढ़ करने एवं उत्पादन क्षमता में इजाफा करने की घोषणा की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button